गुजरात के खेड़ा जिला मुख्यालय के पुलिस स्टेशन (A massive fire broke out in the police station of Kheda district headquarters of Gujarat.) में भीषण आग लग गई. आग इतनी भीषण थी कि कुछ ही देर में पुलिस स्टेशन में खड़े दो दर्जन से अधिक वाहन जलकर स्वाह हो गए. खबरों के मुताबिक, खेड़ा टाउन पुलिस स्टेशन में आग लगने की घटना में 25 गाड़ियां जलकर खाक हो गईं. जिसमे कई बाइक,  ऑटोरिक्शा और कार शामिल हैं. 

अभी तक आग लगने के कारणों का पता नहीं चला है. बताया जा रहा है कि आग लगने की इस घटना में किसी इंसान को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है. वहीं राहत बचाव दल अभी भी मौके पर मौजूद है. बताया जा रहा है कि ये आग इतनी भीषण थी कि दमकलकर्मियों को इस पर काबू पाने में काफी समय लगा. हालांकि गनीमत ये रही कि इस आग की घटना में कोई हताहत नहीं हुआ है.

बता दें कि गुजरात में इस तरह का हादसा पहली बार नहीं हुई है. बता दें कि शनिवार को ही राजधानी गांधी नगर के कलोल औद्योगिक क्षेत्र में एक टैंक में रासायनिक गैस के चलते पांच श्रमिकों की मौत हो जान चली गई. दरअसल गुजरात में गांधी नगर के कलोल औद्योगिक क्षेत्र में दवा बनाने की एक कंपनी के वाटर टैंक में उतरे एक मजदूर ने जहरीली गैस के कारण दम घुटने से मौत हो गई. 

बताया जा रहा है कि टैंक में उतरे एक श्रमिक की जब जहरीली गैस से दम घुटने लगा तो उसने मदद के लिए आवाज लगाई. उसके बाद चार अन्य श्रमिक भी इस टैंक में उतरे, लेकिन उसके बाद जिंदा वापस नहीं आ सके. टैंक में रासायनिक गैस के चलते पांचों श्रमिकों की मौत हो गई.

गौरतलब है कि शनिवार को गांधीनगर जिले के कलोल कस्बे के खात्रज गांव में गुजरात औद्योगिक विकास निगम क्षेत्र के प्लॉट 10 ब्लॉक नंबर 58 में दवा कंपनी तुत्सन फार्मा के वाटर प्रोसेस टैंक की सफाई का काम चल रहा था. 

टैंक की सफाई के लिए एक मजदूर नीचे उतरा तथा कुछ देर बाद उसका दम घुटने लगा तो उसने मदद के लिए आवाज लगाई. एक के बाद एक मदद के लिए बाहर खड़े चार श्रमिक भी टैंक में उतर, लेकिन जहरीली गैस के प्रभाव के चलते इन पांचों की मौत हो गई.