मारुति अप्रैल 2020 में बीएस6 नॉर्म्स लागू होने के साथ ही अपने पेट्रोल मॉडल्स को बाज़ार में बेचती आ रही है। अब मारुति अपनी कारों में सीएनजी का ऑप्शन शामिल करने जा रही है। इस बात के संकेत हमें एमिशन टेस्टिंग किट्स के साथ दिखी स्विफ्ट और डिजायर की तस्वीरों से मिले हैं। मारुति का अपने सीएनजी पोर्टफोलियो को एक्सपेंड करने की वजह देशभर में बढ़ते फ्यूल प्राइस हो सकते हैं।

वर्तमान में एस-प्रेसो और अर्टिगा समेत मारुति की छह कारें सीएनजी किट के साथ आती हैं। स्विफ्ट और डिजायर में सीएनजी का ऑप्शन शामिल होने से कंपनी का सीएनजी लाइनअप मजबूत बनेगा, साथ ही ग्राहकों को डीजल मॉडल्स की बजाए कई सारे दूसरे ऑप्शंस भी मिल सकेंगे।इन दोनों ही कारों में 1.2-लीटर ड्यूलजेट पेट्रोल इंजन (90 पीएस/113 एनएम) के साथ 5-स्पीड मैनुअल और एएमटी गियरबॉक्स ऑप्शंस दिए गए हैं। हालांकि, सीएनजी किट के साथ कंपनी इनमें केवल 5-स्पीड एमटी का ऑप्शन दे सकती है। मारुति की दूसरी सीएनजी कारों की तरह ही इसका इंजन आउटपुट भी प्योर सीएनजी मोड पर चलाने पर कम हो सकता है।वर्तमान में कंपनी एस-प्रेसो, सेलेरियो और अर्टिगा के वीएक्सआई वेरिएंट्स के साथ ही सीएनजी किट का ऑप्शन देती है। ऐसे में स्विफ्ट और डिजायर कार के साथ भी चीज़े अलग नहीं होंगी। अगर ऐसा होता है तो सीएनजी वेरिएंट्स में भी पेट्रोल पावर्ड वीएक्सआई वेरिएंट वाले ही सभी फीचर्स मिलेंगे जिनमें फोर-स्पीकर साउंड सिस्टम, स्टीयरिंग माउंटेड ऑडियो और कॉलिंग कंट्रोल और कीलैस एंट्री शामिल होंगे।स्विफ्ट और डिजायर सीएनजी वेरिएंट्स की प्राइस पेट्रोल वेरिएंट्स से 90,000 रुपए ज्यादा रखी जा सकती है। वर्तमान में मारुति स्विफ्ट हैचबैक की प्राइस  5.81 लाख रुपए से 8.42 लाख रुपए के बीच है। जबकि, डिजायर सेडान की कीमत 5.98 लाख रुपए से शुरू होकर 9.02 लाख रुपए (एक्स-शोरूम दिल्ली) तक जाती है।
स्विफ्ट सीएनजी का मुकाबला हुंडई ग्रैंड आई10 निओस सीएनजी से होगा। वहीं, डिजायर सीएनजी का कॉम्पिटिशन अपकमिंग टाटा टिगॉर सीएनजी से होगा।