MP में भिंड के गोरमी इलाके में एक दुल्हन अपनी शादी वाली रात ही अपनी ससुराल की छत कूदकर भाग निकली। दूल्हे ने शादी करने के लिए पूरे 90 हजार में सौदा तय किया था।

ठगी का शिकार हुए दूल्हे ने गोरमी थाने में 5 लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया है। गोरमी थाना पुलिस ने 3 लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ भी की है।

जानकारी के अनुसार, गोरमी इलाके में रहने वाले दिव्यांग सोनू जैन की शादी नहीं हुई थी। सोनू जैन के परिचय के ग्वालियर निवासी उदल खटीक ने सोनू जैन को बताया कि वह उसकी शादी करा देगा लेकिन इसके बदले में उसे एक लाख देने होंगे। सोनू जैन ने 90 हजार में सौदा तय कर लिया।
       
मंगलवार को उदल खटीक, अनीता रत्नाकर नाम की एक महिला को लेकर गोरमी पहुंच गया। अनीता रत्नाकर के साथ अरुण खटीक और जितेंद्र रत्नाकर को भी लेकर ऊदल खटीक गोरमी पहुंचा।

इसके अलावा एक अन्य व्यक्ति भी उदल खटीक के साथ था। यहां सोनू जैन की शादी अनीता के साथ घर में ही परिवार के लोगों के सामने संपन्न करवाई गई। मंगलसूत्र पहनाया गया, मांग भरी गई। सोनू के घर वालों ने दूल्हा-दुल्हन को आशीर्वाद भी दिया। इसके बाद सभी लोग सोने चले गए।

अनीता के साथ आए जितेंद्र रत्नाकर जिसे अनीता ने अपना भाई बताया था और अरुण खटीक, दोनों कमरे के बाहर सोने चले गए जबकि रात के वक्त अनीता खुद की तबीयत खराब होने का बहाना बनाकर छत पर चली गई।

आधी रात के वक्त जब घर वालों की नींद खुली तो उन्होंने बहू की तलाश शुरू की लेकिन बहू कहीं नजर नहीं आई। अनीता छत से कूद कर भागने की फिराक में थी लेकिन गश्त कर रही पुल‍िस ने अनीता को भागते हुए पकड़ लिया।

इसके बाद दूल्हा बने सोनू ने गोरमी थाने पहुंचकर अपने साथ हुई इस धोखाधड़ी की शिकायत पुलिस से की। पुलिस ने सोनू जैन की शिकायत पर उदल खटीक, जीतेंद्र रत्नाकर, अरुण खटीक और अनीता रत्नाकर समेत एक अन्य अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ धोखाधड़ी सहित अन्य धाराओं में केस दर्ज कर लिया है। साथ ही पकड़े गए तीनों आरोपियों से पूछताछ भी शुरू कर दी है।