ब्रिटिश इतिहासकारों (British historian) ने भारतीय सैनिकों (indian Soldiers In First World War) से जुड़ा एक खास रिकॉर्ड तलाशा है। दरअसल, प्रथम विश्व युद्ध (First World War) में लड़ने वाले 3.20 लाख भारतीय सैनिकों के रेकॉर्ड ब्रिटिश इतिहासकारों ने लाहौर के संग्रहालय में खोजे हैं। इस खोज ने प्रथम विश्व युद्ध में भारतीय सैनिकों के व्यापक योगदान को फिर साबित किया है। इनमें पंजाब व आसपास के सैनिकों के नाम दिए गए हैं। ये दस्तावेज संग्रहालय में बिना किसी के ध्यान में आए पड़े थे। इन्हें डिजिटाइज करके वेबसाइट पर अपलोड किया जा रहा है। यह सैनिक अरब देशों, पूर्वी अफ्रीका, गैलीपोली आदि में हुए युद्धों में शामिल थे।

दस्तावेज डिजिटाइज कर रहे यूके पंजाब हेरिटेज एसोसिएशन (UK Punjab Heritage Association) के अध्यक्ष अमनदीप माड्रा (Amandeep Madra) ने बताया कि कई गांवों से 40-40 प्रतिशत लोगों ने अपने नाम सेना में लिखवाए थे। करीब 45 हजार रिकॉर्ड तो केवल जालंधर, लुधियाना और सियालकोट (वर्तमान में पाकिस्तान में है) के सैनिकों के हैं। इन रिकॉर्ड को पंजाब सरकार ने प्रथम विश्व युद्ध पूरा होने के बाद 1919 में तैयार करवाया था। इनमें 26,000 पृष्ठ हैं, जिनमें से कुछ पर छपाई और कुछ पर हस्तलेख से नाम व बाकी जानकारियां दर्ज हैं।