चंडीगढ़. पंजाब कांग्रेस की हालत गुजरात कांग्रेस की तरह हो चली है, जहां बीते पांच साल में एक दर्जन से ज्यादा विधायकों सहित पार्टी के कार्यवाहक अध्यक्ष भी भाजपा छोड़कर कांग्रेस में शामिल हो चुके हैं. बीते शुक्रवार को कहा जा रहा था कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री राजकुमार वेरका भाजपा में शामिल होने जा रहे हैं, लेकिन उनका जाना तो तय ही है, साथ में कई बड़े नेताओं के भी शामिल होने की संभावना है. कहा जा रहा है कि कांग्रेस के जो नेता अब भाजपा में शामिल हो सकते हैं, उनमें बलबीर सिद्धू, गुरप्रीत कांगड़ और श्याम सुंदर अरोड़ा भी शामिल हैं. इन नेताओं की हाल ही में भाजपा में शामिल हुए पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़ के साथ एक अहम बैठक हुई है.

यह भी पढ़े : कानपुर हिंसा में पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, मास्टरमाइंड हयात जफर लखनऊ से गिरफ्तार


पहले यह भी अटकलें लगाई जा रही थी कि पूर्व डिप्टी सीएम ओपी सोनी भी भाजपा में शामिल हो सकते हैं, लेकिन उन्होंने इस बात को नकार दिया है, जबकि पूर्व मंत्री राजकुमार वेरका ने भाजपा में जाने से पहले अपने ट्विटर अकाउंट से कांग्रेस वाला अपना प्रोफाइल हटा दिया है. इसलिए उनका भाजपा में शामिल होना सुनिश्चित हो चुका है. इसके अलावा कांग्रेस नेता केवल सिंह ढिल्लों ने भी भाजपा में जाने के लिए कमर कस ली है.

यह भी पढ़े : शादी के 8 साल बाद भी अभिनेत्री वर्षा प्रियदर्शिनी ने सांसद पति को नहीं बनाने दिए शारीरिक संबंध, बोले - कोई कितने दिन और इंतजार करे


यह सब राजनीतिक हलचल ऐसे समय में हुई है, जब गृह मंत्री अमित शाह शनिवार को चंडीगढ़ आने वाले हैं. कार्यक्रम के अनुसार शाह शाम को ताऊ देवीलाल स्टेडियम में हो रहे ‘खेलो इंडिया गेम्स’ का उद्घाटन करेंगे और पंजाब भाजपा नेताओं की बैठक की अध्यक्षता कर उन्हें संबोधित करेंगे. जानकारी के मुताबिक अमित शाह रात आठ बजे भाजपा में शामिल हुए कांग्रेस नेता सुनील जाखड़ के आवास पर भी जाएंगे.

यह भी पढ़े : सूर्य 14 जून तक वृष राशि में : इन राशियों के लिए वरदान के समान रहेगा समय , बरसेगी सूर्य देव की कृपा


पता चला है कि अमित शाह ने विशेष रूप से इस बैठक के लिए कहा है, जिसमें राज्य भाजपा ने कोर कमेटी के सदस्यों, कार्यकारी नेताओं, जिलाध्यक्षों, महासचिवों और पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ने वालों को आमंत्रित किया है. वह प्रत्येक समूह के साथ व्यक्तिगत रूप से बातचीत करेंगे. यह पिछले आठ वर्षों में पहली बार है, जब अमित शाह राज्य में पार्टी की संभावनाओं का फीडबैक लेने के लिए पंजाब बीजेपी की बैठक की अध्यक्षता करेंगे.