भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) और बैंक ऑफ इंडिया समेत कई वित्तीय संस्थानों ने रेपो दर में 0.50 प्रतिशत की बढ़ोतरी किए जाने के बाद अपनी ब्याज दरें बढ़ा दी हैं। भारतीय रिजर्व बैंक ने मुद्रास्फीति को काबू में करने के लिए द्विमासिक मौद्रिक नीति समीक्षा में नीतिगत दर रेपो 0.5 प्रतिशत बढ़ाकर 5.9 प्रतिशत कर दी।

ये भी पढ़ेंः Bank Holidays List: अक्टूबर में 21 दिन बंद रहेंगे बैंक, यहां देखें पूरे महीने की लिस्ट


SBI की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक, एक्सटर्नल बेंचमार्क लेंडिग रेट (EBLR) और रेपो रेट से संबंधित उधार दर RLLR में 50 बेसिस प्वाइंट की बढ़ोतरी की गई है। इस बढ़ोतरी के बाद EBLR 8.55 फीसदी हो गया और RLLR 8.15 पर पहुंच गया है। शनिवार यानी आज से नई दरें प्रभावी हो जाएंगी। बैंक ऑफ इंडिया ने RBLR बढ़ाकर 8.75 फीसदी कर दिया है। 

ये भी पढ़ेंः मुंह की बदबू की वजह से हो जाते हैं शर्मिंदा? तो इन घरेलू उपायों को जरूर करें फॉलो


ICICI बैंक ने भी अपने EBLR में इजाफा किया है और ये बढ़कर 9.60 फीसदी हो गया है। EBLR वो ब्याज दर है, जिससे कम दर पर बैंक कर्ज देने की अनुमति नहीं देते हैं। कर्ज दर में वृद्धि के साथ उन लोगों की की ईएमआई बढ़ जाएगी, जिन्होंने EBLR या RLLR पर लोन लिया है। एचडीएफसी (HDFC) ने होम लोन के ब्याज दर में 0.50 फीसदी की बढ़ोतरी की है। नई दर एक अक्टूबर से प्रभावी होगी। इस वित्तीय संस्थान ने बीते पांच महीने में सातवीं बार ब्याज दरों में इजाफा किया है।