दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के बाद अब उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की गिरफ्तार हो सकते हैं। सीएम ने कहा कि किसी फर्जी मामले में उन्हें फंसाया जा सकता है। आम आदमी पार्टी ने यह भी बताया है कि किस केस में सिसोदिया को जेल भेजे जाने का आशंका है। पार्टी का दावा है कि केंद्र ने सिसोदिया को फंसाने के लिए 3 साल पुराना एक मामला उठाने की साजिश रची है।

यह भी पढ़ें : प्रतिबंधित संगठन उल्फा (आई) से माफी मांगने वाले असम के मंत्री को हिमंता सरमा की बड़ी चेतावनी

आप नेता आतिशी ने मीडिया ब्रीफिंग के दौरान दावा किया कि केंद्र ने सिसोदिया को गिरफ्तार करवाने के लिए अपनी सभी जांच एजेंसियों, आयकर, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी), दिल्ली पुलिस और सीबीआई को 'फर्जी ' मामले की तैयारी शुरू करने का आदेश दिया है। उन्होंने दावा किया कि स्वास्थ्य और बिजली समेत विभिन्न विभागों का कामकाज संभाल रहे सत्येंद्र जैन को 'बिना किसी नए सबूत के' प्रवर्तन निदेशालय ने एक मामले में गिरफ्तार किया। 

आतिशी ने एक कथित दस्तावेज दिखाया जिसमें भ्रष्टाचार निरोधक शाखा (एसीबी) ने भाजपा की दिल्ली इकाई के नेताओं हरीश खुराना और नीलकांत बख्शी से उनके द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत के सिलसिले में अतिरिक्त ब्योरा और दस्तावेज मांगे थे। इन दोनों भाजपा नेताओं ने शिकायत की थी कि सिसोदिया और जैन विद्यालय कक्षाओं और भवनों के निर्माण में 2000 करोड़ रुपए के घोटाले में शामिल थे। यह शिकायत नई दिल्ली के पुलिस उपायुक्त को 2 जुलाई, 2019 को की गई थी, जिसे एसीबी के पास भेजा गया था।  

यह भी पढ़ें : हिमंता सरमा का बड़ा बयानः 2024 के चुनावों के बाद प्रमुख विपक्षी दल का टैग खो देगी कांग्रेस

आतिशी ने कहा, '' यह मामला पिछले 3 सालों से कहां था? इस मामले में कुछ नहीं हुआ क्योंकि सभी एजेंसियां जानती थीं कि इसमें भ्रष्टाचार हुआ ही नहीं। केंद्र आप विधायकों के पीछे क्यों पड़ा है?'' उन्होंने कहा, '' मुख्यमंत्री (अरविंद) केजरीवाल ने कुछ महीने पहले उनकी गिरफ्तारी की आशंका प्रकट की थी और वही हुआ भी। अब हमें पता चला है कि सिसोदिया गिरफ्तार होने जा रहे हैं।'' उन्होंने कहा, '' केंद्र ने सिसोदिया को गिरफ्तार करवाने के लिए अपनी सभी एजेंसियों को 'फर्जी' मामले की तैयारी शुरू करने का आदेश दिया है।''