केंद्रीय गृह राज्यमंत्री किरेन रिजिजू ने शुक्रवार को उत्तर प्रदेश में मणिपुर के युवक की रहस्यमय मौत को दुखद बताते हुए कहा कि वह इस मामले का सच जानने के लिए निजी तौर पर राज्य पुलिस के संपर्क में हैं। 

रिजिजू ने फेसबुक पोस्ट में कहा, 'पूर्वोत्तर के युवक प्रवीश चानम की मौत बहुत ही दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण है. मैं इस मामले का सच जानने के लिए निजी तौर पर यूपी पुलिस के संपर्क में हूं.'

ग्रेटर नोएडा के इंडिया एक्सपोजिशन मार्ट से आठ सितंबर को प्रवीश चानम लापता हो गए थे. वह वहां अपने तीन दोस्तों के साथ कंसर्ट में हिस्सा लेने गए थे. उनके दोस्तों और परिवार को इसके बारे में कुछ पता नहीं चल पाया था. नोएडा पुलिस को बाद में प्रवीश का शव मिला था और पुलिस ने मृतक के परिवार को सूचित किए बिना उसका दाह संस्कार कर दिया था। 

मृतक के दोस्तों और परिवार के लोगों ने इस संबंध में रिजिजू से मिलने के प्रयास किए, लेकिन कामयाबी नहीं मिल सकी, जिसके बाद रिजिजू ने यह बयान दिया. प्रवीश के परिवार ने इस मामले में कई खामियां गिनाते हुए कहा कि शव के दाह संस्कार से पहले पुलिस ने इसकी पहचान के लिए सार्वजनिक नोटिस तक जारी नहीं किया। 

प्रवीश के भाई रविकांत चानम ने  बताया, 'हम इस मामले में सीबीआई जांच चाहते हैं.' मणिपुर सरकार ने अपने शीर्षतम आईपीएस अधिकारी से दिल्ली जाकर इस मामले की जांच पर नजर रखने को कहा है। 

पूर्वोत्तर के युवाओं ने गुरुवार को उत्तर प्रदेश भवन के बाहर प्रदर्शन करते हुए इस मामले में राज्य सरकार से जांच की मांग की।