आम उत्पादकों का कहना है कि इस साल उत्तर प्रदेश में आम का लगभग 80 प्रतिशत उत्पादन असामान्य मौसम की स्थिति और अभूतपूर्व गर्मी के कारण बुरी तरह प्रभावित हुआ है। ऑल इंडिया मैंगो ग्रोअर्स एसोसिएशन ने कहा है कि इसका सीधा असर आम की विभिन्न किस्मों की कीमत पर पड़ेगा, जिनमें से प्रत्येक की कीमत 70-80 रुपये प्रति किलोग्राम से कम नहीं होगी।

ये भी पढ़ेंः हार्दिक पटेल 2 जून को बीजेपी में शामिल होंगे, सोनिया गांधी को इस्तीफा लिखकर छोड़ दी थी कांग्रेस


एसोसिएशन ने कहा कि 10 जून के आसपास प्राकृतिक रूप से पके आम के बाजार में आते ही कीमत 100 रुपये प्रति किलोग्राम तक पहुंच सकती है। ऑल इंडिया मैंगो ग्रोअर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष इंसराम अली ने मंगलवार को कहा कि इस साल, आम की फसल बढ़ती अवस्था में उच्च तापमान की चपेट में थी।

ये भी पढ़ेंः जम्मू कश्मीर में आतंकियों का खूनी खेल, हिंदू महिला टीचर को गोली मारकर हत्या


आम उत्पादकों के लिए यह तीसरा वर्ष होगा जब उन्हें नुकसान का सामना करना पड़ेगा। 2020 और 2021 में, कोविड -19 महामारी के कारण आम के निर्यात पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा और स्थानीय बिक्री भी कम थी।