आम का इतिहास तकरीबन 5000 साल पुराना है और भारत में उगने वाला यह एक महत्वपूर्ण फल है। भारत में दशहरी, लंगड़ा, चौसा, केसर, बादामी, तोतापरी और अल्फांसो जैसी आम की प्रजातियां काफी फेमस है। आम स्वादिष्ट होने के साथ-साथ पौष्टिक भी है। आम में कौन से गुणकारी तत्व पाए जाते हैं और इसें खाने के कितने फायदे हैं ये जानकर आप भी हैरान रह जाएगें। तो जानिए...

आम में मौजूद गुणकारी तत्व- अलग-अलग तरह के रंगों में आने वाले आम में कई प्रकार के विटामिन, मिनरल और एंटी ऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं। इसमें मौजूद विटामिन K न सिर्फ ब्लड क्लॉट्स में फायदेमंद है, बल्कि एनीमिया से भी बचाव करता है। बहुत कम लोग ये बात जानते होंगे कि आम हमारी हड्डियों को भी मजबूत बनाने का काम करता है।

आम में विटामिन C की भी भरपूर मात्रा होती है, जो कि रक्त वाहिकाओं और हेल्दी कोलेजन के विकास के लिए बेहद महत्वपूर्ण माना जाता है। विटामिन C शरीर के जख्मों को तेजी से भरने में मदद करता है। इसके अलावा भी आम कई बड़ी बीमारियों से हमारे शरीर की रक्षा कर सकता है।

आम के पीले और नारंगी भाग में बीटा कैरोटीन पाया जाता है। बीटा कैरोटीन आम में पाए जाने वाले कई तरह के एंटी ऑक्सीडेंट्स में से एक है। आम में मौजूद एंटी ऑक्सीडेंट्स शरीर में फ्री रेडिकल्स से लड़ते हैं, जो कि कैंसर के बढ़ने के लिए जिम्मेदार माने जाते हैं।

दिल की सेहत- डॉक्टर्स के मुताबिक, आम हमारे शरीर के कार्डियोवस्क्यूलर सिस्टम को भी सपोर्ट करता है। इसमें मौजूद मैग्नीशियम और पोटैशियम की प्रचूर मात्रा को शरीर में लोवर ब्लड प्रेशर रेगुलर पल्स से जोड़कर भी देखा जाता है। इसके अलावा आम में मैंगीफेरिन नाम का यौगिक भी होता है। कई शुरुआती स्टडीज में पता चला है कि मैंगीफेरिन हार्ट इन्फ्लमेशन में भी राहत देने का काम करता है।

आम डायजेस्टिव सिस्टम को भी स्थिर रखता है। इसमें मौजूद एमिलेज कंपाउंड और डायट्री फाइबर कब्ज से भी राहत दिलाने का काम करते हैं। एमिइलेज कंपाउंड हमारे पेट में तमाम तरह के खाद्य पदार्थों को पचाने में मदद करते हैं और कठोर स्टार्च को भी तोड़ सकते हैं। आम से मिलने वाला फाइबर कब्ज होने पर सप्लीमेंट्स में मौजूद फाइबर से ज्यादा प्रभावशाली होता है।

आम विटामिन A से भी भरपूर होता है। लगभग एक आम विटामिन A की दैनिक जरूरत को करीब 25 प्रतिशत तक पूरा कर सकता है। ये विटामिन हमारी बॉडी के कई प्रमुख अंगों के लिए बेहद जरूरी है, जैसे कि आंख और त्वचा। विटामिन A शरीर में रीप्रोडक्शन और इम्यून सिस्टम के लिए भी जरूरी होता है।

आम में मौजूद गुणकारी तत्व तेजी से बढ़ते वजन को कंट्रोल करने में भी फायदा पहुंचा सकते हैं। एक हालिया स्टडी के मुताबिक, आम और इसमें मौजूद फाइटोकैमिकल्स शरीर में फैट सेल्स और फैट से जुड़े जीन्स पर दबाव बना सकते हैं।

आम के छिलके के भी फायदे- एक अन्य स्टडी के मुताबिक, आम का छिलका भी शरीर में फैटी टिशू को बढ़ने से रोक सकता है। ये शरीर में बिल्कुल आम में मौजूद एंटी ऑक्सीडेंट्स की तरह ही काम करता है।

हालांकि आम खाना शरीर के लिए फायदेमंद है। लेकिन इसे ज्यादा मात्रा में खाने से नुकसान भी हो सकता है। कुछ लोगों में भ्रम है कि इसे खाने से वजन बढ़ सकता है। एक्सपर्ट्स के अनुसार इसे सही क्वांटिटी में खाने से ऐसा नहीं होता है। 100 ग्राम आम में 60 कैलोरी होती है। अगर कोई व्यक्ति अलग-अलग समय पर रोजाना 1-2 आम खा रहा है और कैलोरी को भी मॉनिटर कर रहा है तो उसका वजन नहीं बढ़ेगा।