बिना किसी गुनाह के एक शख्स ने अपनी जिंदगी के 28 साल जेल की सलाखों के पीछे बिताए। अब उसे न्याय के साथ ही भारी भरकम मुआवजा भी मिला है। मामला अमरीका के फिलाडेल्फिया का है। यहां चेस्टर होलमैन नाम के एक शख्स को 28 साल तक जेल में उस अपराध के आरोप में रहना पड़ा, जो उसने किया ही नहीं था। 

साल 1991 में उसपर हत्या का आरोप लगा। बाद में मुख्य गवाह ने बयान दिया कि उसने गलती से होलमैन पर आरोप लगाया था, इसके बाद उन्हें रिहा कर दिया गया। लेकिन अब उन्हें सिस्टम की इस गलती के मुआवजे के रूप में 72 करोड़ रुपए मिले हैं। होलमैन ने फिलाडेल्फिया सरकार के खिलाफ केस दर्ज किया था। फलाडेल्फिया के कनविक्शन इंटीग्रीटी यूनिट के प्रमुख पैट्रिका क्युमिंग्स ने 49 वर्षीय होलमैन से सार्वजनिक माफी मांगी। इस यूनिट ने माफी मांगने से पहले 15 महीने तक पूरी घटना की दोबारा जांच की। जिसमें कई गलतियां सामने आईं। जांच में ये भी पता चला कि मामले में एक दूसरा संदिग्ध बच निकला है।

होलमैन का कहना है कि मैंने जो 28 वर्षों में खोया है उसको बयां करने के लिए मेरे पास शब्द नहीं है। इसको किसी पैमाने में नहीं माप सकते हैं। मेरे परिवार ने कष्ट सहा, जो आलोचना सही, ताने सुने, उसकी भरपाई नहीं हो सकती है। मेरे और मेरे परिवार के लिए जीवन का ये सबसे कठिन समय था। न्याय पाने के लिए लड़ना पड़ता है। अगर आप गलत नहीं हैं तो मिलता भी है लेकिन लड़ाई एक निडर और बेगुनाह मुजरिम की तरह लडऩी होती है।