झारखंड के 11 वें मुख्‍यमंत्री के रूप में हेमंत सोरेन की आज ताजपोशी हो रही है। इस बहाने विपक्ष पूरी एकजुटता दिखाते हुए शक्ति प्रदर्शन की तैयारी में है। देशभर में एनआरसी, एनपीआर और नागरिकता संशोधन कानून पर विरोध के बीच यह मोदी सरकार के धुर विरोधियों के लिए बड़ा मौका साबित हो रहा है, जहां वे एक साथ मिलकर केंद्र को अपनी ताकत का अहसास करा सकें।


झारखंड में भाजपा को सत्‍ता से बेदखल कर चुनावों में झामुमो, कांग्रेस और राजद के महागठबंधन ने बड़ी जीत हासिल की, इसके बाद देशभर के भाजपा विरोधी दिग्‍गज रविवार को हेमंत सरकार के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने रांची पहुंच रहे हैं। बीती रात से ही अतिथियों के आने का सिलसिला जारी है।  अबतक देश के विभिन्न हिस्सों एवं राज्यों से नेताओं का आना लगा हुआ है।



रांची में शपथ से पहले पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री से मिलकर झारखंड के मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन ने आशीर्वाद लिया।ममता बनर्जी ने सम्पूर्ण बंगाल की ओर से हेमंत सोरेन को नई जिम्मेवारी के लिए शुभकामनाएं दी।


हेमंत सोरेन के शपथग्रहण समारोह में शामिल होने पहुंचे सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी।


हेमंत सोरेन के शपथ ग्रहण में शामिल होने पहुंचे पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद यादव।


मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन के शपथ ग्रहण का गवाह बनने पहुंचे राजद नेता शिवानंद तिवारी।

राजद नेता अब्‍दुल बारी सिद्दकी भी हेमंत सोरेन के शपथ ग्रहण समारोह में भाग लेने के लिए रांची पहुंचे हैं।