पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार से 'लोकतांत्रिक प्रदर्शन के आगे झुकने का शुक्रवार को आग्रह किया। बनर्जी ने कहा कि मैं भारत सरकार से अपने जिद्दी रवैये को त्यागने और लोकतांत्रिक प्रदर्शन के आगे झुकने का अनुरोध करती हूं। उन्होंने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) को वापस लीजिए। लोकतंत्र में कभी-कभी बड़े प्रदर्शन के आग सिर झुकाने पड़ता है। देश जल रहा है। प्रधामंत्री को सामान्य स्थिति बहाल करने के लिए कदम उठाने होंगे।


पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ की बैठक

बनर्जी ने आज तृणमूल भवन में पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की। उन्होंने बैठक के अंत में सीएए-एनआरसी विरोधी प्रदर्शन संबंधी घोषणाएं भी की। उन्होंने लोगों से शांतिपूर्ण और लोकतांत्रिक तरीके से प्रदर्शनों में शामिल होने की अपील की। उन्होंने कहा कि भाजपा लोगों को भ्रमित करने के लिए फर्जी वीडियो तैयार कर रही है। अफवाहों पर ध्यान न दें। लोकतांत्रिक साधनों का इस्तेमाल करते हुए शांतिपूर्ण प्रदर्शन करें।


हमलों को बताया शर्मनाक

बनर्जी ने कहा कि भाजपा तनाव को बढ़ाने के लिए इस तरह के वीडियो प्रसारित कर रही है। उन्होंने कहा कि हम बंद, सड़क एवं रेल सेवाओं को बाधित करने के खिलाफ हैं। हमारा 2009 से यही रुख रहा है। हमें लोकतांत्रिक तरीके से प्रदर्शन करना होगा। लोगों के जीवन को नुकसान नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि हमने देखा कि बेंगलुरु में क्या हुआ। युवाओं, छात्रों और बुद्धिजीवियों पर हमले हुये। यह शर्मनाक है।

अब हम twitter पर भी उपलब्ध हैं। ताजा एवं बेहतरीन खबरों के लिए Follow करें हमारा पेज : https://twitter.com/dailynews360