पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी 25 जुलाई को दिल्ली दौरे पर आ सकती हैं।  उन्होंने आज कहा कि संसद के मॉनसून सत्र के दौरान वह दिल्ली जाएंगी।  मैं चुनाव के बाद हर बार मित्रों से मिलने दिल्ली जाती हूं। 

ममता ने कहा कि अगर समय दिया गया तो वो पीएम मोदी और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से भी मिलेंगी।  बता दें कि बंगाल और केंद्र सरकार के बीच के रिश्ते बेहद तनाव पूर्ण रहे हैं।  बंगाल में हुए विधानसभा चुनाव के बाद हुई हिंसा के बाद खटास और बढ़ गई थी। 

ममता ने एनएचआरसी की रिपोर्ट पर कहा कि एनएचआरसी को न्यायपालिका का सम्मान करना चाहिए, उसे चुनाव बाद हिंसा से संबंधित रिपोर्ट लीक नहीं करनी चाहिए थी, जो केवल हाई कोर्ट में जमा करने के लिए थी। 

बता दें कि एनएचआरसी की समिति ने चुनाव उपरांत हुई हिंसा पर सौंपी अपनी रिपोर्ट में कहा है कि पश्चिम बंगाल में स्थिति ‘‘शासक के राज’ की तरह है बजाय कि ‘कानून के राज’ के एनएचआरसी की समिति ने कलकत्ता हाई कोर्ट को दी अपनी रिपोर्ट में ‘हत्या और बलात्कार जैसे गंभीर अपराधों’ की जांच सीबीआई से कराने की अनुशंसा की है।