पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी ने जनता को संबोधित करते हुए कहा है कि माकपा और कांग्रेस की बीजेपी के साथ साठगांठ है। उन्होंने कहा कि केवल तृणमूल कांग्रेस राज्य में संशोधित नागरिकता कानून और एनपीआर को लागू होने से रोक सकती है और विभिन्न समुदायों के बीच मित्रता सुनिश्चित कर सकती है।

ममता बनर्जी ने बीजेपी पर आने वाले विधानसभा चुनाव में अल्पसंख्यकों का वोट हासिल करने के लिए एक नयी राजनीतिक पार्टी को समर्थन देने का आरोप लगाया। बनर्जी 24 परगना जिले में एक चुनावी रैली को संबोधित कर रहीं थीं। उन्होंने किसी दल अथवा व्यक्ति का नाम लिए बिना कहा कि उस पार्टी के संस्थापक को बीजेपी से पैसा मिलता है। उन्होंने कहा, "बीजेपी के आदेश पर राज्य में एक नए राजनीतिक दल का गठन हुआ है, जिसका मकसद अल्पसंख्यकों का वोट हासिल करना और भगवा दल की मदद करना है।"

पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी की संपत्ति में साल 2016 के विधानसभा चुनाव में घोषित की गई संपत्ति की तुलना में 45.08 प्रतिशत तक की कमी आई है। इस बार नंदीग्राम सीट से चुनाव लड़ रहीं बनर्जी ने नामांकन पत्र में अपनी संपत्ति 16,72,352 रुपये बताई है। तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ने साल 2016 के विधानसभा चुनाव के दौरान अपनी संपत्ति 30,45,013 रुपये बतायी थी। पिछली बार उन्होंने भवानीपुर सीट से चुनाव लड़ा था।