पश्चिम बंगाल चुनावों के बाद हुई हिंसा में मारे गए लोगों पर ममता बनर्जी ने बड़ा ऐलान किया है जिसके तहत प्रत्येक परिवार को 2 लाख रूपये दिए जाएंगे। मुख्यमंत्री ने कहा, ''मुआवजा वगैर किसी भेदभाव के दिया जाएगा। जब कानून-व्यवस्था की जिम्मेदारी चुनाव आयोग के पास थी तब हुई हिंसा में 16 लोगों की मौत हुई है। इसमें आधे टीएमसी और आधे बीजेपी के थे। एक संयुक्त मोर्चा से जुड़े थे।''

सीएम ममता बनर्जी ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि यहां बीजेपी के नेता घूम रहे हैं और लोगों को भड़का रहे हैं। नई सरकार के 24 घंटे भी नहीं हुए हैं, वे पत्र भेज रहे हैं, उनकी टीम आ रही और उनके नेता यहां आ रहे हैं। वे वास्तव में जनादेश को स्वीकार करने के लिए तैयार नहीं हैं। मैं उनसे लोगों के जनादेश को स्वीकार करने का अनुरोध करती हूं।
बता दें कि दो मई को नतीजों की घोषणा के बाद पश्चिम बंगाल में कई जगहों पर हिंसा हुई थी। इस मामले में केंद्रीय गृहमंत्रालय ने राज्य सरकार से रिपोर्ट तलब की है। लेकिन राज्य सरकार ने अब तक रिपोर्ट नहीं भेजी है।
इसके बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने चुनाव के बाद हुई कथित हिंसा के कारणों की पड़ताल करने और राज्य में जमीनी हालात का जायजा लेने के लिए चार सदस्यीय दल का गठन किया है। एक अतिरिक्त सचिव के नेतृत्व में दल पश्चिम बंगाल पहुंच गया है।

यही नहीं केंद्रीय गृह मंत्रालय ने हिंसा की घटनाओं पर राज्यपाल जगदीप धनखड़ से भी रिपोर्ट मांगी है। राज्यपाल से स्थिति का आकलन करने के बाद जल्द से जल्द मंत्रालय को रिपोर्ट सौंपने को कहा गया है।