पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एनआरसी के मुद्दे पर सरकार को साफ शब्दों में चेतावनी दे दी है। ममता बनर्जी ने कहा, 'बंगाल में ऐसा नहीं कर पाओगे।' दरअसल बनर्जी ने असम में जारी राष्ट्रीय नागरिक पंजीकरण (एनआरसी) के खिलाफ गुरुवार को विरोध मार्च निकाला। पार्टी के वरिष्ठ नेताओं और सैकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ ममता ने सड़क पर निकलकर विरोध मार्च का नेतृत्व किया। उन्होंने कहा कि जिस तरह असम में लोगों की आवाज बंद की गई है, ऐसा बंगाल में नहीं होगा।


ममता ने केंद्र की नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, 'आपने जिस तरह असम में अपनी पुलिस का इस्तेमाल कर लोगों की आवाज दबाई, वैसा यहां बंगाल में नहीं कर पाओगे। अचानक आप हमें (तृणमूल कांग्रेस) धर्म पर ज्ञान दे रहे हैं, जैसे हम ईद, दुर्गा पूजा, मुहर्रम और छठ पूजा मनाते ही ना हों।

बता दें कि असम की बहुचर्चित एनआरसी की फाइनल लिस्ट 31 अगस्त को जारी हुई थी। इस लिस्‍ट में 19 लाख लोग अपनी जगह नहीं बना पाए हैं। एनआरसी के राज्‍य समन्‍वयक प्रतीक हजारिका ने बताया कि कुल 3,11,21,004 लोग इस लिस्‍ट में जगह बनाने में सफल हुए हैं। उन्‍होंने कहा कि एनआरसी की फाइनल लिस्‍ट से 19,06,657 लोग बाहर हो गए हैं। दरअसल, जब मसौदा एनआरसी प्रकाशित हुआ था, तब 40.7 लाख लोगों को इससे बाहर रखा गया था, जिस पर काफी विवाद हुआ था।


हालांकि तमाम चर्चाओं के बीच विदेश मंत्रालय ने पिछले हफ्ते ही कहा था कि जिन लोगों के नाम अंतिम सूची में नहीं है उन्हें हिरासत में नहीं लिया जाएगा।