बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी  को बाहरी बताते हुए बीजेपी नेता सुवेन्दु अधिकारी और टीएमसी सुप्रीमो के पूर्व सहयोगी ने बुधवार को कहा कि भाजपा अगर सत्ता में आई तो, चिटफंड कम्पनियों का शिकार हुए लोगों को उनके पैसे वापस मिलेंगे। 

ममता बनर्जी पर धार्मिक आधार पर विभाजन करने का आरोप लगाते हुए अधिकारी ने कहा कि टीएमसी सुप्रीमो ने मंगलवार को नंदीग्राम में चंडी पाठ में मंत्रों का गलत उच्चारण किया। बीजेपी नेता ने कहा कि चिट फंड घोटाला टीएमसी सरकार के चलते हुआ और इसके नेताओं ने जनता के पैसे को लूटा है। उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी नंदीग्राम की मतदाता नहीं हैं, वह यहां बाहरी शख्स हैं। मैं केवल यहां का भूमिपुत्र ही नहीं हूं, बल्कि इस इलाके को वोटर भी हूं।

अधिकारी ने कहा, मैं वर्षों से लोगों के साथ खड़ा हूं, ममता बनर्जी की तरह नहीं कि सिर्फ चुनावों के दौरान आता हूं। बुधवार को अधिकारी ने नंदीग्राम में अधिकारी ने अपने चुनाव कार्यालय का उद्घाटन किया। बता दें कि बंगाल चुनाव में नंदीग्राम की सीट हाईप्रोफाइल हो गई है, ममता बनर्जी यहां सुवेन्दु अधिकारी के खिलाफ चुनावी मैदान में हैं। कार्यालय उद्घाटन के दौरान उपस्थित लोगों के सामने अधिकारी ने चंडीपाठ की रिकॉर्डिंग सुनाई और उसकी तुलना ममता बनर्जी से की। अधिकारी ने कहा कि ममता बनर्जी का चंडी पाठ सुर ताल में नहीं है और मंत्रों का उच्चारण गलत है। योगी आदित्यनाथ मंत्रों का सही पाठ कर सकते हैं और उन्हें ममता बनर्जी के मंत्रों का पाठ ठीक करने के लिए नंदीग्राम बुलाया जाना चाहिए। मैं चाहता हूं, योगी आदित्यनाथ यहां आएं और सही पाठ करना सिखाएं।