करोड़पति कौन नहीं बनना चाहता है। लेकिन क्या वाकई करोड़पति बनना इतना आसान है। दरअसल करोड़पति बनने का कोई शॉर्टकट नहीं है। हालांकि यदि आप कुछ इन्वेस्टमेंट एक बढ़िया प्लानिंग और सिस्टम से करें तो ये इतना मुश्किल भी नहीं है। दरअसल पब्लिक प्रोविडेंट फंड यानी कि पीपीएफ के जरिए कोई भी शख्स करोड़पति बन सकता है। लेकिन इसके जरिए करोड़पति बनने के लिए आपको धैर्य रखना होगा। यही नहीं आपको ढेर सारा निवेश भी करना होगा।


बता दें कि अगर आप चाहते हैं कि आप भी करोड़पति बन जाए तो आपको प्रति वर्ष 1,32,000 रुपए 25 साल के मौजूदा ब्याज दर के हिसाब से जमा करने होंगे। मालूम हो कि इसके लिए आपको प्रति दिन 362 रुपए की बचत (1,32,000/365=361.64) करनी होगी। बता दें कि पीपीएफ पर अभी 7.9 % की दर से ब्याज मिल रहा है जो कि पिछले 5 साल से 8% के आस पास है। कैलकुलेशन के हिसाब से देखा जाए तो अगर कोई सालाना 1,32,000 रुपए 15 साल के लिए निवेश करता है तो मौजूदा 7.9% की ब्याज दर से उसे कुल 38 लाख रुपए मिलेंगे।


मालूम हो कि पीपीएफ में 15 साल की लॉक-इन अवधि होती है। दरअसल इस अवधि के बाद खाताधारक को एक मुश्त राशि दे दी जाती है और खाता बंद कर दिया जाता है। हालांकि अगर आप चाहते हैं कि अंशदान के साथ आपका खाता अगले 5 साल के लिए और चलता रहे तो इसके लिए पीपीएफ नियम के मुताबिक आपको फॉर्म-एच को भरना होता है। वहीं दूसरी तरफ 5 साल पूरे होने के बाद भी आप चाहते हैं कि आपको खाता अगले और 5 साल के लिए अंशदान के साथ खुला रहे तो आपको एकबार फिर फॉर्म-एच भरना होता है। बता दें कि यह फॉर्म पीपीएफ खाते की मैच्योरिटी से 1 साल पहले भरा जाता है।


जानकारी के लिए बता दें कि पीपीएफ विस्तार के लिए आवेदन के लिए भरे गए फॉर्म-H की वेरिफिकेशन पोस्ट ऑफिस और बैंक अधिकारी करते हैं। मालूम हो कि अगर आप अपना 15 साल की लॉक-इन अवधि का जमा नहीं निकालते और अगले 10 साल के लिए 1,32,000 रुपए निवेश करना चाहते हैं तो आपको 25 साल पूरे होने पर मौजूदा ब्याज दर के तहत 1 करोड़ की एकमुश्त राशि मिलेगी।