अब इंडियन आर्मी में भर्ती होना आसान हो गया है क्योंकि शारीरिक योग्यता में कुछ बदलाव हो चुके हैं। अब सैनिक पोस्ट पर भर्ती होने वाले पुरुष उम्मीदवारों का वजन अब लंबाई के अनुपात पर तय किया जाएगा। इससे पहले यह नियम सेना में भर्ती होने वाले अधिकारियों के लिए था लेकिन अब यह नियम सैनिक पद के लिए भी लागू कर दिया गया है।

अभी तक सेना में सैनिक पद पर भर्ती के लिए पुरुष उम्मीदवारों के न्यूनतम वजन की सीमा 50 किलो और अधिकतम 62 किलो तय की गई थी। अब नए नियम में लंबाई के साथ अधिकतम वजन की सीमा भी बढ़ेगी।

सैन्य भर्ती की तैयारी कर रहे अभ्यर्थियों को फिटनेस पर पहले से ज्यादा ध्यान देना होगा। उनको अब न्यूनतम 50 किलो वजन की जगह अपनी लंबाई के अनुपात में वजन के मापदंड में सफल होना पड़ेगा। सेना अब ठोस और दमदार अभ्यर्थियों के चयन के लिए वजन के मापदंड में बदलाव करने जा रही है।

सेना के स्वतंत्र भर्ती बोर्ड दिल्ली ने पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर अपने यहां की भर्तियों में इसकी शुरुआत भी कर दी है। देश के दूसरे सभी भर्ती मुख्यालयों को भी यह नोटिफिकेशन भेज दिया गया है।

भारतीय सेना में अब तक अलग-अलग राज्यों की भौगोलिक स्थिति के अनुसार वहां के लोगों के लिए लंबाई तय की गई थी। उत्तर प्रदेश में भी सैनिक जीडी, सैनिक तकनीकी, ट्रेड्समैन, स्टोर कीपर तकनीकी और नर्सिंग सहायक जैसे पदों के लिए भी शारीरिक मापदंड तय किए गए हैं।

सैनिक जीडी के पद के लिए ही अभ्यर्थी की कम से कम लंबाई 170 सेमी और वजन 50 किलोग्राम है। हालांकि 62 किलोग्राम से अधिक भार होने पर अभ्यर्थी को अधिक वजनी बताकर अयोग्य घोषित कर दिया जाता था। अब नए मानकों में अधिकतम वजन की सीमा भी लंबाई के साथ बढ़ेगी।