महाराष्ट्र में कोरोना के मामलों की संख्या में कमी आने के साथ ही अब वहां पर भी प्रतिबंधों में कई तरह की रियायतें दिया जाना शुरू हो गया है। राज्य सरकार ने 5 स्तर Maharashtra Unlock का फैसला लिया है। हालांकि मुंबई को रियायत के लिए अभी इंतजार करना होगा। यहां पर अनलॉक पर फैसला 15 जून के बाद लिया जाएगा।

कुछ समय पहले तक कोरोना से बुरी तरह से प्रभावित रहे महाराष्ट्र में अब अनलॉक की प्रक्रिया शुरू हो गई है। मुंबई को छोड़कर राज्य के कई जिलों को अब अनलॉक किया जाएगा। आपदा प्रबंधन मंत्री विजय वडेट्टीवार ने कहा कि मुंबई चूंकि लेवल 2 पर है, इसलिए लोकल ट्रेनों को आम जनता के लिए बंद नहीं किया जाएगा। हालांकि अगर साप्ताहिक समीक्षा में पॉजिटिविटी रेट में सुधार होता है, तो हम निश्चित रूप अनलॉक के बारे से सोचेंगे।

आपदा प्रबंधन मंत्री ने कहा कि महाराष्ट्र को 5 स्तर पर यानी लेवल 1, 2, 3, 4 और 5 के तहत अनलॉक किया जाएगा. महाराष्ट्र के कई जिले लेवल 1 के तहत आते हैं इसलिए वहां पर अनलॉक की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। औरंगाबाद, भंडारा, धुले, गडचिरौली, जलगांव, जलगना, नांदेड़, नासिक, परभणी और थाणे आते हैं। जबकि लेवल 2 में मुंबई के अलावा अमरावती, हिंगोली और नंदुरबार जिले शामिल हैं।

राज्य के आपदा प्रबंधन मंत्री विजय वडेट्टीवार ने आज गुरुवार को कहा कि लेवल 1 के तहत आने वाले जिलों में सभी गतिविधियां सामान्य रूप से जारी रहेंगी यानी पूर्ण अनलॉक होगा।

उन्होंने कहा कि हमने राज्य के कुछ हिस्सों में पांच स्तरों पर लॉकडाउन हटाने और अनलॉक करने का फैसला किया है। जिन जिलों में पॉजिटिविटी रेट 5%, बेड की उपलब्धता 25% है, उन्हें अनलॉक किया जाएगा। ऐसी जगहों पर थिएटर और मॉल भी खुले रहेंगे। साथ ही निजी और सरकारी कार्यालय भी पूरी क्षमता के साथ खुले रहेंगे।

आपदा प्रबंधन मंत्री ने यह भी कहा कि ऐसे स्थानों पर विवाह, अंतिम संस्कार, फिल्म और सीरियल की शूटिंग की भी अनुमति होगी। निजी और सरकारी कार्यालय, थिएटर पूरी क्षमता के साथ खुले रहेंगे।