Coronavirus की दूसरी लहर से सबसे अधिक प्रभावित रहे महाराष्ट्र में अनलॉक की प्रक्रिया शुरू हो गई है। आज उद्धव सरकार ने राज्य की 36 जिलों में से 18 जिलों में लॉकडाउन जैसी पाबंदियां हटाने की घोषणा की।

आपदा प्रबंधन मंत्री विजय वडेत्तिवार ने राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की बैठक के बाद कहा कि कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर से निपटने के लिए अप्रैल में लॉकडाउन जैसी पाबंदियां लगायी गई थीं।

उन्होंने कहा कि राज्य के 18 ऐसे जिलों में अब पाबंदियों में ढील दी जाएगी जहां संक्रमण की दर पांच प्रतिशत अथवा उससे कम है और अस्पतालों में ऑक्सीजन की सुविधा वाले 75 प्रतिशत बिस्तर खाली हों।

जिन 18 जिलों में पाबंदियों में ढील दी जाएगी उनमें औरंगाबाद, भंडारा, बुलढाणा, चंद्रपुर, धुले, गढ़चिरौली, गोंदिया, जलगांव, जालना, लातूर, नागपुर, नांदेड़, नासिक, यवतमाल, वाशिम, वर्धा, परभणी और ठाणे शामिल हैं। इन जिलों में रेस्टोरेंट्स, मॉल, गार्डन, थिएटर, फिल्मों की शूटिंग यह सभी चीजों को इजाजत दी गई है।

मुंबई में आंशिक रूप से पाबंदियों में ढील दी जाएगी, लेकिन मायानगरी की लाइफलाइन कही जाने वाले लोकल ट्रेन सेवा को अभी फिलहाल आम लोगों के लिए नहीं खोला जाएगा।

महाराष्ट्र में बुधवार को कोरोना के 15,169 नए मामले आए थे। महाराष्ट्र में अब तक 57,76,184 लोग कोरोना से संक्रमित हुए हैं और इनमें से 96,751 लोगों की जान गई है। राज्य में मंगलवार को 14,123 मामलों की पुष्टि हुई थी।

महाराष्ट्र में बुधवार को 29,270 मरीजों को संक्रमण मुक्त होने के बाद अस्पतालों से छुट्टी दी गई। इसके साथ ही प्रदेश में संक्रमण मुक्त होने वालों की कुल संख्या 54,60,589 हो गई है। राज्य में इस समय 2,16,016 उपचाराधीन मरीज है।