भारत सरकार ने मदरसों को बंद करने और सभी मदरसों को माध्यमिक विद्यालय में बदलने पर विचार कर रही है। पूर्वोत्तर भारत के राज्य असम में तो कई मदरसे को बंद भी कर दिया गया है। इसी बीच कई लोगों का कहना है कि मदरसों में आतंकवादियों को तैयार किया जाता है लेकिन यह सही नहीं है। इसी कड़ी में पाकिस्तान से एक खौफनाक खबर मिली है जहां एक मदरसे में ED बम धमाका हुआ है।

सूत्रों ने बताया कि इस धमाके में कम से कम 7 लोगों की मौत हो गई है और 70 लोगों घायल हो गए हैं। बता दें कि यह खौफनाक हमला पाकिस्तान के ख़ैबर-पख़्तूनख़्वा प्रांत के पेशावर शहर में हुआ है। यहां कि पुलिस ने बताया कि धमाका समयानुसार सुबह 8:30पर हुआ। इस धमाके के वक़्त मदरसे में क़रीब 60 से ज्यादा लोग मौजूद थे और मदरसे में पढ़ाई चल रही थी। राज्य के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी वकार अज़ीम कहा कि जांच से पता चला है कि कोई एक शख्स मदरसे के अंदर बस्ता रखकर चला गया था।


उसके कुछ देर बाद दी यह भयंकर धमाका हुआ है। इस धमाके के बाद ख़ैबर-पख़्तूनख़्वा के प्रांतीय मंत्री तैमूर झगड़ा ने जानकारी दी है कि इस धमाके में सात लोगों की मौत हुई है और 70 से ज़्यादा लोग घायल हो गए हैं। जानकारी के लिए बता दें कि पेशावर शहर अफ़ग़ान सीमा के पास है तालिबान विद्रोह के दौरान हाल के सालों में वहां हिंसा की कुछ भयानक घटनाएं हुई है तो कयास लगाए जा रहे हैं किय यह धमाका भी तालिबान ने ही करवाया है।