नई दिल्ली। मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव 2023 को लेकर भाजपा जबरदस्त तैयारियों में जुटी है। इसी बीच टिकट के दावेदारों को वरिष्ठ नेताओं की नसीहतों का सिलसिला भी जारी है। प्रदेश प्रभारी मुरलीधर राव के बयान के बाद अब राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने नेता पुत्रों को टिकट देने को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कह चुके हैं परिवारवाद नहीं चलेगा तो उनका यह इशारा काफी मायने रखता है।


यह भी पढ़ें : 2023 चुनाव की तैयारियों जुटी पार्टियां, UDP में 7 विधायक शामिल होने की संभावना


मिशन 2023 की तैयारियों में जुटी भारतीय जनता पार्टी की आज हुई बैठक के बीच प्रदेश प्रभारी मुरलीधर राव ने एक ट्वीट कर नेताओं और कार्यकर्ताओं को नसीहत दी। उन्होंने नेताओं की परिक्रमा करने वालों को इसकी जगह सेवा करने की जरूरत बताई थी। इसके बाद दोपहर में राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय मीडिया से चर्चा में यह कहकर नेता पुत्रों की धड़कनें बढ़ा दीं। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा परिवारवाद को लेकर पिछले दिनों दिए गए बयान का हवाला दिया और कहा कि पीएम ने इशारा किया था कि पार्टी में परिवारवाद नहीं चलेगा। नेता पुत्रों की टिकट के सवाल के जवाब में पीएम का यह इशारा ही काफी है।


आपको बता दें कि परिवारवाद में जिन नेताओं के परिजनों का टिकट संकट में फंस सकता है उनमें  लोकसभा अध्यक्ष रहीं सुमित्रा महाजन के पुत्र मंदार महाजन, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान के पुत्र हर्षवर्धन सिंह, गौरीशंकर शेजवार के पुत्र मुदित, पूर्व वित्त मंत्री जयंत मलैया के पुत्र सिद्धार्थ, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष व पूर्व सांसद प्रभात झा के बेटे तुष्मुल, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के पुत्र देवेंद्र सिंह, वरिष्ठ मंत्री गोपाल भार्गव के पुत्र अभिषेक, नरोत्तम मिश्रा के पुत्र सुकर्ण, मंत्री कमल पटेल के पुत्र सुदीप पूर्व मंत्री व अन्य पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष गौरीशंकर बिसेन के पुत्र मौसम शामिल हैं।

यह भी पढ़ें : अरुणाचल में शहीद हुए सूबेदार हरदीप सिंह, अब पंजाब सरकार परिवार को देगी एक करोड़ रुपए

गौरतलब है कि मध्य प्रदेश की राजनीति में परिवारवाद के सहारे राजनीति में आ चुके नेताओं में पूर्व मुख्यमंत्री वीरेंद्र सिंह सकलेचा के पुत्र ओमप्रकाश सकलेचा, कैलाश जोशी के पुत्र दीपक जोशी, सुंदरलाल पटवा के भतीजे सुरेंद्र पटवा, कैलाश विजयवर्गीय के पुत्र आकाश विजयवर्गीय, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष के पुत्र अशोक रोहाणी, पूर्व सांसद लक्ष्मीनारायण पांडेय के पुत्र राजेंद्र पांडेय, पूर्व मंत्री किशोरीलाल वर्मा के पुत्र देवेंद्र वर्मा, पूर्व नेता प्रतिपक्ष विक्रम वर्मा की पत्नी नीना जैसे प्रमुख नाम हैं। ओमप्रकाश सकलेचा अभी मंत्री हैं तो दीपक जोशी स्कूल शिक्षा मंत्री रह चुके हैं और सुरेंद्र पटवा अभी विधायक हैं लेकिन पहले मंत्री भी रह चुके हैं।