श्रीनगर। लेफ्टिनेंट जनरल देवेंद्र प्रताप पांडे ने सोमवार को 15 कोर के मुख्यालय में लेफ्टिनेंट जनरल अमरदीप सिंह औजला को कश्मीर स्थित रणनीतिक 15 कोर की कमान सौंपी।

लेफ्टिनेंट जनरल देवेंद्र प्रताप पांडे ने 2021 के एक महत्वपूर्ण चरण में कोर की कमान संभाली थी, जब कश्मीर आतंकवाद की दोहरी चुनौतियों और कोविड -19 महामारी की दूसरी लहर का सामना कर रहा था।

ये भी पढ़ेंः लाड़ली लक्ष्मी योजना-2 : कालेज जाने वाली छात्राओं को मिलेगें 25 हजार रुपए, किश्तों में मिलेगी राशि

सेना ने कहा, 'उनका कार्यकाल को नियंत्रण रेखा के साथ-साथ भीतरी इलाकों में एक बेहतर सुरक्षा वातावरण के लिए जाना जाता है। नागरिक प्रशासन और सुरक्षा बलों के साथ कश्मीर में सामान्य स्थिति वापस लाने के उन्होंने प्रयास किए। आतंकवाद अपने निचले स्तर पर है।'

बयान के अनुसार, 'कश्मीर के युवाओं को हिंसा के रास्ते पर गुमराह करने और मजबूर करने के लिए व्हाइट कॉलर आतंकवादियों द्वारा किए जा रहे कट्टरता के कार्य को समाप्त करने के लिए विभिन्न कार्यक्रमों को अंजाम दिया गया। आतंकवादियों की संख्या घटकर 150 के अब तक के सबसे निचले स्तर पर आ गई है।'

ये भी पढ़ेंः लगातार 33वें दिन भी मिली आम जनता को राहत, इतनी है पेट्रोल और डीजल की कीमत

लेफ्टिनेंट जनरल पांडे ने एक बेहतर सैनिक-नागरिक संपर्क सुनिश्चित किया। सोपोर, शोपियां, दरपोरा, त्रेहगाम और कश्मीर के दूरदराज के इलाकों में उनकी यात्राओं ने जनता के साथ उनके संबंध को बढ़ा दिया।

इस प्रयास में पूरे कश्मीर घाटी में कई सफल आयोजन भी शामिल थे, जिसमें नागरिकों को विभिन्न खेल, संस्कृति, कला, शिक्षा, कौशल और स्वास्थ्य पहल में शामिल किया गया था।