टोक्यो ओलिंपिक में आज भारत को एक कांस्य पदक हासिल हुआ। महिला बॉक्सर लवलीना बोर्गोहेन का सेमीफाइनल में मुकाबला वर्ल्ड चैम्पियन तुर्की की मुक्केबाज बुसानाज से हुआ। लवलीना को हार का सामना करना पड़ा और कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा।

वहीं ओलिंपिक में बॉक्सिंग में पदक जीतने वाली लवलीना ओवरऑल भारत की तीसरी मुक्केबाज हैं। इससे पहले भारत की ओर से विजेंदर सिंह और एमसी मैरीकॉम ने ओलिंपिक में कांस्य पदक जीता था।दूसरे राउंड में लवलीना और सुरमेनेली दोनों लगातार एक दूसरे को पंच जड़ रही थीं। लवलीना के कोच उन्हें बार बार समझा रहे थे कि वह विपक्षी से दूर रहकर पंच जड़ने को किा। तुर्की की मुक्केबाज ने कई शानदार हुक लगाए। लवलीना दूसरा राउंड भी हारीं और इस बार उन्हें पेनाल्टी के एक अंक भी गंवाने पड़े। पहले राउंड में बुसेनाज भारतीय बॉक्सर पर हावी रही। बुसेनाज ने पहला राउंड 5-0 से जीता। लवलीना के पास वापसी के लिए अभी भी दो राउंड बचे हुए हैं। लवलीना को रेफरी ने पहले राउंड में चेतावनी दी। बावजूद इसके वह लगातार पंच जड़ रही थी। रेफरी को बीच में खेल रोककर उन्हें समझना पड़ा।


उधर, कुश्ती के 57 किग्रा वर्ग के क्वार्टर फाइनल में रवि कुमार दहिया ने बुल्गारिया के जॉर्जी वालेंटिनोव को 14-4 से हरा सेमीफाइनल का टिकट कटाया। वहीं, दीपक पूनिया ने पुरुषों के फ्रीस्टाइल 86 किग्रा वर्ग के क्वार्टर फाइनल में चीन के झुहेन लिन को कड़े मुकाबले में 6-3 से हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई। वहीं, भालाफेंक में नीरज चोपड़ा ने आज क्वॉलिफाइंग राउंड के अपने पहले ही प्रयास में 86.65 मीटर भाला फेंककर फाइनल क्वॉलिफाइ कर लिया।