उत्तर प्रदेश के बरेली में पुलिस ने दो नाबालिग छात्राओं के परिजनों की ओर से अलग-अलग मामलों में एक ही थाने में दूसरे समुदाय के युवकों के खिलाफ शादी का झांसा देकर उन्हें साथ ले जाने और फिर धर्म परिवर्तन के लिए न मानने पर दुष्कर्म के आरोप में रिपोर्ट दर्ज की है। एक आरोपी पुलिस की हिरासत में है। 

पहली एफआईआर के मुताबिक थाना नवाबगंज क्षेत्र के एक गांव की कक्षा 9 में पढ़ने वाली 15 वर्षीय किशोरी को शादी का झांसा देकर नूरपुर गांव के दूसरे समुदाय के युवक ने अपना नाम सुनील बताकर उसे प्रेम जाल में फंसाया था । खुद 12वीं में पढ़ रहा युवक छात्रा को शादी के बहाने जयपुर ले गया। वहां छात्रा को पता चला कि वह जिसे सुनील समझ रही है वह किसी और धर्म का है। इसके बाद विरोध करने पर युवक ने छात्रा को बंधक बनाकर उसके साथ दुष्कर्म किया और फिर उसे गांव के पास छोड़ कर भाग गया। 

छात्रा के पिता की तहरीर पर थाना नवाबगंज में रिपोर्ट दर्ज कर पुलिस ने आरोपी की तलाश शुरू की । दूसरे मामले में कक्षा 10 की छात्रा को 2 फरवरी को कस्बे के ही मोहल्ला बगिया के रहने वाला युवक अपने पिता की मदद से लेकर भाग गया था। युवक ने शादी से पहले धर्म परिवर्तन करने को कहा तो उसने विरोध किया। इस पर युवक ने उसके साथ दुष्कर्म किया। नवाबगंज पुलिस ने दोनों छात्राओं का मेडिकल करा दिया है। बरेली के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक रोहित सिंह साजवान ने कहाा कि दुष्कर्म की पुष्टि हो गई है। दोनों आरोपित के स्वजन घर छोड़कर फरार हैं। दोनों के युवकों के खिलाफ उत्तर प्रदेश विधि विरुद्ध धर्म सम परिवर्तन प्रतिषेध अधिनियम की धाराओं में नवाबगंज थाना मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। 

जिले के नवाबगंज थाना क्षेत्र में ही अंतरण के दूसरे मामले सामने आया है आरोपी ने छात्रा को फंसाने के लिए अलग नाम रखा। वह अपना नाम कहीं आजाद उर्फ ओसामा व आजाद हुसैन लिखता है छात्रा को भगाकर 2 फरवरी को भीलवाड़ा (राजस्थान) पहुंचा तो पुलिस को देखते ही भागने लगा पुलिस ने पीछा किया तो आरोपित के पास से तमंचा बरामद हुआ। आरोपित को राजस्थान पुलिस ने तमंचे में मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया । छात्रा से पूछताछ के बाद भीड़वाला पुलिस ने नवाबगंज पुलिस से संपर्क किया मामले की जानकारी दी। छात्रा ने आरोपित पर जबरन भगाकर ले जाने के बाद निकाह का दबाव बनाने का आरोप लगाया । इसके बाद नवाबगंज पुलिस ने आरोपित के खिलाफ उत्तर प्रदेश विधि विरुद्ध धर्म परिवर्तन प्रतिषेध अधिनियम की धारा में मुकदमा दर्ज कर लिया है। उधर दूसरा युवक आजाद हुसैन जो भीलवाड़ा जेल में बंद है उसे विधिक कार्रवाई के बाद बरेली लाया जाएगा। दोनों आरोपी युवकों के परिजन एफ आई आर दर्ज होने के बाद घर छोडकऱ भाग गए हैं।