इटली की रेसिया झील आजकल चर्चाओं में है। कारण झील में इटली का एक खोया हुआ गांव मिला है। यह गांव एक झील के किनारे मिला है जो सात दशक पहले गायब हो गया था। खास बात यह है कि सालों से इस गांव के बारे में किसी को कोई जानकारी नहीं थी। वैसे तो यह झील बर्फीले पानी के बीच मौजूद 14वीं शताब्दी के एक चर्च की मीनार के लिए मशहूर है। लेकिन सोशल मीडिया पर गांव मिलने के बाद से इसकी फोटोज जमकर वायरल हो रही हैं। 

जानकारी के अनुसार कई वर्षों बाद जब झील की मरम्मत का काम शुरू हुआ तो उसके पानी को सुखाया गया। इसके बाद ही 70 साल से जलमग्न गांव के अवशेष बाहर आ पाए। लेक रेसिया को जर्मन में रेसचेन्सी के नाम से जाना जाता है। यह दक्षिण टायरॉल के अल्पाइन क्षेत्र में स्थित है जो ऑस्ट्रिया और स्विट्जरलैंड की सीमा पर है।

बताया जा रहा है कि साल 1950 में जलमग्न होनेे से पहले क्यूरॉन नामक इस गांव में लोग रहा करते थे। दरअसल, एक हाइड्रोइलेक्ट्रिक प्लांट बनाने के लिए सरकार ने यहां 71 साल पहले एक बांध का निर्माण करवाया जिसके लिए दो झीलों को मिलाया गया और क्यूरॉन गांव का अस्तित्व मिट गया। उस दौरान झील में 160 से ज्यादा घर जलमग्न हुए थे। तब क्यूरॉन की आबादी विस्थापित हो गई थी हालांकि, कुछ लोग आसपास नए गांव बसाकर रहने लगे थे।

जानकारी के अनुसार स्थानीय निवासी ने गांव की कुछ फोटोज सोशल मीडिया पर शेयर की हैं जिन्हें पसंद किया जा रहा है। क्यूरॉन गांव से प्रेरित होकर एक किताब लिखी गई है। साथ ही, नेटफ्लिक्स ने एक सीरीज भी बनाई है। यह झील गर्मियों में हाइकर्स की पसंदीदा जगह है। जबकि सर्दियों में इसके जमने पर विजिटर्स झील पर चलकर चर्च के शिखर तक पहुंचते हैं।