राष्ट्रीय राजधानी में दिल्ली में तापमान 43 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच चुका है। मौसम विभाग के अनुमान के अनुसार अभी गर्मी में ओर बढ़ोतरी हो सकती है। इसके साथ ही दिल्ली-एनसीआर में लू चलने का अनुमान भी लगाया गया है। मौसम विभाग के एक अधिकारी ने कहा, 'सोमवार को दिल्ली का अधिकतम तापमान सामान्य से एक डिग्री अधिक 41.9 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 25.4 डिग्री दर्ज किया गया।' इसके साथ ही मौसम विभाग के एक अधिकारी ने कहा है कि दिल्ली के साथ साथ पूरे उत्तर भारत और मध्य भारत के भागों में मौसम शुष्क रहेगा। कई स्थानों पर लू चलेगी। वहीं पूर्वोत्तर भारत और दक्षिण भारत के राज्यों में प्री-मॉनसून बारिश बढ़ने की संभावना है।

इसके साथ ही देश भर के मौसम के बारे में अनुमान लगाते हुए मौसम विभाग ने कहा, 'वहीं उत्तर और उत्तर पश्चिम भारत के लगभग सभी भागों में इस पूरे सप्ताह मौसम शुष्क रहने की संभावना है जिसके कारण पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और राजस्थान के सभी भागों में तापमान में लगातार वृद्धि होगी। तापमान में बढ़ोतरी के कारण उत्तर पश्चिम भारत के मैदानी इलाकों में लू की वापसी हो सकती है। मई के आखिर तक राजस्थान और हरियाणा के 1-2 स्थानों पर तापमान 45 डिग्री सेल्सियस पार कर जाएगा। हालांकि जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में एक-दो स्थानों पर हल्की वर्षा की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता। तीनों पर्वतीय राज्यों में इस सप्ताह मौसम मूलतः सुहावना बना रहेगा।'


इसके अलावा मध्य भारत में पहले से भीषण गर्मी पड़ रही है। इस सप्ताह भी मौसम के शुष्क रहने की उम्मीद है। हालांकि 29 मई से 2 जून के बीच छत्तीसगढ़ के दक्षिणी भागों में कभी-कभी बारिश हो सकती है। लेकिन मध्य प्रदेश के कुछ भागों, जैसे- मराठवाड़ा, विदर्भ, मध्य महाराष्ट्र और दक्षिणी राजस्थान में तापमान 44 से 46 डिग्री के बीच रहेगा। इन भागों में लू का प्रकोप रहेगा। गुजरात में भी संभावना है कि गर्मी तेज़ होगी क्योंकि बारिश के आसार न के बराबर है।'


वहीं पूर्वी और पूर्वोत्तर भारत में मौसम का मिलाजुला रूप देखने को मिलेगा। असम, मेघालय और अरुणाचल प्रदेश में 29 मई तक हल्की से मध्यम वर्षा के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश की संभावना है। पूर्वोत्तर राज्य में कुछ स्थानों पर वर्षा हो सकती है। ओड़ीशा में भी 28 मई से बारिश शुरू होगी और 30 मई तक रुक-रुक कर बारिश जारी रहने की संभावना है। बिहार और झारखंड में 30 मई से वर्षा की गतिविधियां देखने को मिल सकती हैं। इन क्षेत्रों में धीरे-धीरे बारिश के बढ़ने की उम्मीद है। जबकि पश्चिम बंगाल में एक और दो जून को बारिश की संभावना है। लेकिन पूर्वी उत्तर प्रदेश, पश्चिमी बिहार, और पश्चिमी झारखंड में इस पूरे सप्ताह बारिश होने की उम्मीद हैं।'


जबकि दक्षिण भारत के मौसम के विषय में मौसम विभाग ने अनुमान जताया है कि दक्षिण भारत में दक्षिणी आंतरिक कर्नाटक के शहरों में पूरे सप्ताह कई जगहों पर बारिश होने की संभावना है। एक-दो स्थानों पर भारी वर्षा भी हो सकती है। दूसरी ओर केरल में इस सप्ताह हल्की से मध्यम वर्षा रुक-रुक कर होती रहेगी। जबकि तमिलनाडु के आंतरिक हिस्सों में 31 मई तक एक-दो जगहों पर बारिश होने की संभावना है। तटीय आंध्र प्रदेश में 29 मई से और रायलसीमा में 30 मई से कुछ स्थानों पर वर्षा होने का अनुमान है। तेलंगाना में एक 2 जून को बारिश देखने को मिल सकती है। अंडमान व निकोबार द्वीपसमूह में कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश जारी रह सकती है जबकि कुछ स्थानों पर भारी वर्षा के आसार हैं।