अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित असम की स्वशासी संसदीय सीट कार्बीं आंगलोंग और दीमा हसाओ जिले में आती है। यहां एसटी समुदाय का काफी प्रभाव है। कांग्रेस नेता बिरेन सिंह इंग्ती लगातार तीन बार और कुल पांच बार यहां से सांसद रह चुके हैं। 2014 में मोदी लहर भी यहां कोई करिश्मा नहीं दिखा सकी। यह इलाका असम के हिंसाग्रस्त इलाकों में शुमार है।


इस सीट पर लंबे समय तक कांग्रेस का कब्जा रहा है। यहां से कांग्रेस नेता बिरेन सिंह इंगती 5 बार सांसद रह चुके हैं। 1952 में हुए पहले लोकसभा चुनाव में यहां से कांग्रेस प्रत्याशी बोनिली खोंगमेनने जीत दर्ज की थी। 1962 से 1971 तक लगातार तीन बार गिलबर्ट जी स्वेल ने जीत दर्ज की। 1977 में हुए छठे लोकसभा चुनाव में बिरेन सिंह ने पहली दफा जीत दर्ज की। 1985 के चुनाव में भी बिरेन ने बाजी मारी, लेकिन 1991 से 1999 तक लगातार चार बार ऑटोनोमस स्टेट डिमांड कमेटी की ओर से जयंता रोंगपी नेजीत दर्ज की।  2004 में कांग्रेस ने फिर वापसी की और बिरेन सिंह ने 24129 मतों के अंतर से जीत दर्ज की। उसके बाद 2009 और 2014 में भी उन्होंने अपना किला बचाए रखा।


2011 की जनगणना के अनुसार यहां की कुल जनसंख्या 11 लाख 70 हजार 415 है। इसमें 85.01 फीसदी आबादी ग्रामीण और 14.99 शहरी है। इसमें एससी 4.21 जबकि एसटी 59 फीसदी हैं। 2014 के चुनाव में यहां कुल मतदाता 7 लाख 2 हजार 223 थे। इसमें 3 लाख 59 हजार 58 वोटर पुरुष और 3 लाख 43 हजार 172 वोटर महिलाएं थी।

2018 की वोटर लिस्ट के मुताबिक यहां कुल मतदाताओं की संख्या 7 लाख 68 हजार 832 है। 2009 के चुनाव में यहां 69.4 फीसदी और 2014 के चुनाव में 77.43 प्रतिशत है। लगातार तीन बार सांसद चुने गए बिरेन सिंह इंगती ने 2014 के चुनाव में बीजेपी प्रत्याशी जयराम इंगलेंग को 24095 मतों के अंतर से हराया। बिरेन को कुल 2 लाख 13 हजार 152 वोट मिले, जबकि जयराम को 1 लाख 89 हजार 57 वोट। तीसरे नंबर पर आईएनडी के चोमांग क्रो को एक लाख 82 हजार 99 वोट मिले। 11 हजार 747 वोटरों ने नोटा का बटन दबाया।


74 वर्षीय बिरेन सिंह इंगती सात बार सांसद रह चुके हैं। गुवाहाटी यूनिवर्सिटी से इन्होंने एमए और एलएलबी की डिग्री ली है। संसद में इनकी उपस्थिति 80.69 फीसदी यानि 259 दिनों की है। इन्होंने अब तक संसद में एक सवाल ही पूछा है। अब तक किसी भी बहस में हिस्सा नहीं लिया। इन्होंने सदन के पटल पर एक प्राइवेट मेंबर बिल पेश किया है। सांसद निधि का 40.44 फीसदी यानि 10 करोड़ 11 लाख रुपए इन्होंने अपने संसदीय इलाके में खर्च किया है। आटोनोमस जिले के सांसद बीरेन सिंह इंगति के पास चल संपत्ति 50 लाख 75 हजार 390 रुपये और अचल संपत्ति 3 करोड़ दो लाख 92 हजार रुपये की है।