असम की नौगांव लोकसभा सीट पर रोचक मुकाबला हो रहा है ज‍िसमें 7 प्रत्याश‍ियों का भाग्य दांव पर लगा है। लोकसभा चुनाव 2019 में असम की नौगांव लोकसभा सीट का प्रतिनिधित्व कर रहे केंद्रीय रेल राज्य मंत्री राजेन गोहेन की जगह बीजेपी ने रूपक शर्मा को प्रत्याशी बनाया है। इनका सामना कांग्रेस के प्रद्युत बोरदोलोई से हो रहा है। ऑल इंड‍िया तृणमूल कांग्रेस से सहदेब दास क‍िस्मत आजमा रहे हैं। इसके अलावा पूर्वांचल जनता पार्टी (सेक्युलर), असोम जन मोर्चा, भारतीय गण पर‍िषद और एक न‍िर्दलीय उम्मीदवार मैदान पर हैं। देखने वाली बात होगी क‍ि विधानसभा सीटों में बीजेपी की हवा में मुख्यमंत्री बने सर्बानंद सोनोवाल, लोकसभा में भी इस हवा को बरकरार रख पाते हैं या नहीं?


प्रचार के दौरान ऐसा रहा माहौल

19 मार्च को इस सीट पर नॉम‍िनेशन भरने के बाद से इलाके में राजनीत‍िक दलों का प्रचार शुरू हो गया था। अपने प्रत्याश‍ियों को ज‍िताने के ल‍िए राजनीत‍िक दलों के द‍िग्गजों ने रैली और सभाओं का आयोजन क‍िया। मतदान से 48 घंटे पहले चुनाव प्रचार थमा तो प्रत्याश‍ियों ने घर-घर जाकर संपर्क क‍िया। प्रत्याश‍ियों की मेहनत क्या रंग लाती है, ये तो 23 मई को पता लगेगा। बहरहाल, आज प्रत्याश‍ियों की क‍िस्मत ईवीएम में कैद हो रही है।


बता दें क‍ि देश में 17वीं लोकसभा के ल‍िए 543 लोकसभा सीटों के ल‍िए मतदान हो रहा है। मतदान सात चरणों में होना है। इसी कड़ी में असम की 14 में से 5 सीटों पर 18 अप्रैल को दूसरे फेज में मतदान हो रहा है। बता दें क‍ि 10 मार्च को लोकसभा चुनाव 2019 की घोषणा हुई थी। 19 मार्च को इस सीट के ल‍िए नोट‍िफ‍िकेशन न‍िकला, 26 मार्च को नॉम‍िनेशन की अंत‍िम तारीख और 27 मार्च को उम्मीदवारों द्वारा द‍िए गए शपथपत्रों की स्क्रूटनी हुई। लोकसभा चुनाव 2019 के दूसरे चरण में 13 राज्यों की 97 लोकसभा सीटों पर मतदान हो रहा था। इनमें से दो सीटों पर चुनाव कैंस‍िल हो गया गया है। अब 95 सीटों पर मतदान हो रहा है। ज‍नता ने क‍िसको स‍िर पर बैठाया और क‍िसको जमीन पर पटका?, इसका पता 23 मई को मतगणना के बाद पता चलेगा।


असम की नौगांव सीट बीजेपी का गढ़ मानी जाती है। यहां 1999 से 2014 तक लगातार चार लोकसभा चुनावों से बीजेपी का दबदबा है। यहां कांग्रेस नंबर दो की पार्टी है। यहां की कुल 9 विधानसभा सीटों में से 6 पर बीजेपी ने जीत दर्ज की है। एक-एक सीट पर कांग्रेस, अगप और एआईयूडीएफ ने जीत दर्ज की। राज्य के बड़े शहरों में से एक नौगांव में साक्षरता दर सर्वाधिक है।

राजनीतिक पृष्ठभूमि

नौगांव सीट पर हुए पहले लोकसभा चुनाव से छठे चुनाव तक लगातार कांग्रेस ने जीत दर्ज की। लेकिन इसके बाद लगातार तीन बार असम गण परिषद ने इस सीट पर कब्जा जमाया। इसके बाद बीजेपी प्रत्याशी राजेन गोहाइन इस सीट पर लगातार बाजी मारते आ रहे हैं। 1951 से 1977 तक हुए 6 चुनावों में लगातार कांग्रेस प्रत्याशियों ने जीत दर्ज की थी। इसके बाद 1984 से 1996 तक के चुनावों में असम गण परिषद ने इस सीट पर जीत दर्ज की। 1998 में हुए चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी नृपेन गोस्वामी ने 37784 मतों के अंतर से जीत दर्ज की थी। इसके बाद से हुए चुनाव में लगातार चार बार से बीजेपी प्रत्याशी राजेन गोहेन जीत दर्ज कर रहे हैं।


नौगांव लोकसभा सीट में कुल 9 विधानसभा सीटें आती हैं। इनमें जागीरोड और राहा (एससी) पर बीजेपी, मारीगांव पर बीजेपी,  लहरीघाट पर कांग्रेस, नौगांव पर बीजेपी, बरहमपुर पर असम गण परिषद, जमुनामुख पर एआईयूडीएफ, होजाई पर बीजेपी और लुमडिंग पर बीजेपी ने जीत दर्ज की है।

सामाजिक ताना-बाना

असम के नौगांव सीट पर 2011 की जनगणना के अनुसार कुल जनसंख्या 25 लाख 26 हजार 30 है। इसमें से 83.83 फीसदी आबादी ग्रामीण जबकि 16.17 फीसदी शहरी आबादी है। इसमें 12.6 एससी और 8.59 एसटी हैं। नौगांव सीट पर कुल मतदाताओं की संख्या 15 लाख 23 हजार 881 है, जिसमें से पुरुषों की संख्या 7 लाख 92 हजार 425 और महिलाओं की संख्या 7 लाख 31 हजार 446 है।

2014 का जनादेश

16वीं लोकसभा में असम की नौगांव सीट में बीजेपी ने बाजी मारी थी। यहां से बीजेपी प्रत्याशी राजेन गोहेन ने 4 लाख 94 हजार 146 वोटों के साथ सबसे अधिक मत हासिल किए थे। उन्होंने दूसरे नंबर पर रहे कांग्रेस प्रत्याशी जोंजोनली बरुआ को एक लाख 43 हजार 559 मतों के भारी अंतर से हराया था। बरुआ ने 3 लाख 50 हजार 587 वोट हासिल किए थे। तीसरे नंबर पर AIUDF के प्रत्याशी डॉ. आदित्य लंग्थासा ने 3 लाख 14 हजार 12 वोट हासिल कर बीजेपी और कांग्रेस प्रत्याशी को कड़ी टक्कर दी थी। इस सीट पर 80.72 फीसदी वोट पड़े थे। 8782 मतदाताओं ने नोटा का बटन दबाया था।