कोरोना वायरस से बचाव के लिए सरकार की तरफ से वैक्सीनेशन पर जोर दिया जा रहा है। लेकिन वैक्सीन को लेकर कुछ अफवाहों को लेकर लोगों के मन में बैठा डर वैक्सीनेशन की राह में रोड़े अटका रहा है। हालांकि अब सरकार ने ऐसा तोड़ निकाला है कि सेंटरों पर लाइनें लगने लगी हैं।

झारखंड एक आदिवासी बहुल राज्य हैं। यहां के लोहरदगा में वैक्सीनेशन सेंटर पर सन्नाटा पसरा रहा था लेकिन एक तरकीब काम कर गई और अब वहां वैक्सीन लगवाने के लिए लंबी कतार लगने लगी है।

लोहरदगा में वैक्सीन लेने पर उपहार मिलने लगा तो वैक्सीनेशन के लिए लोगों की कतार लग गई। वैक्सीनेशन को गति देने के लिए नगर पालिका परिषद के वार्ड पार्षद की अनूठी पहल कारगर साबित हुई। लोगों को वैक्सीन लेने के लिए प्रेरित और जागरूक करने की मुहिम जितनी कारगर नहीं रही, उससे ज्यादा कारगर 'वैक्सीन लगवाओ- इनाम पाओ' की स्कीम साबित हुई।

दरअसल स्थानीय निकाय और पंचायतों के जनप्रतिनिधियों से प्रशासन ने अपने-अपने क्षेत्र में टीकाकरण बढ़ाने की अपील की है। लोगों को वैक्सीन दिलाने की जिम्मेदारी जनप्रतिनिधियों को दी गई है। लोहरदगा नगर पालिका परिषद के वार्ड नंबर 19 की पार्षद अनिता अग्रवाल और उनके पति पूर्व पार्षद राजीव रंजन ने अधिक से अधिक संख्या में लोग वैक्सीन लेने आएं, इसके लिए तय किया कि वैक्सीन लेने वाले हर जरूरतमंद को कंबल दिया जाएगा।

पार्षद ने अपने वार्ड में वैक्सीनेशन कैंप को लेकर लाउडस्पीकर से भी प्रचार कराया लेकिन बमुश्किल हर रोज महज 10 लोग ही वैक्सीन लगवाने पहुंच रहे थे। पार्षद ने इसके बाद जिन लोगों ने वैक्सीन नहीं लगवाई थी, उनके घर मैसेज भिजवाया कि वैक्सीन लेने वालों को सेंटर पर ही गिफ्ट दिया जाएगा। इसके बाद बड़ी संख्या में लोग वैक्सीन लगवाने वैक्सीनेशन सेंटर पहुंचने लगे।

जिस वैक्सीनेशन कैंप में घंटों इंतजार के बाद कोई वैक्सीन लेने पहुंचता था, वहां इनाम की स्कीम से लोगों की कतार लग गई। जो स्वास्थ्यकर्मी वैक्सीन लगवाने आने वाले के इंतजार में बैठे रहते थे, वे भी काम में व्यस्त हो गए। पार्षद की कंबल योजना के प्रभाव से एक दिन में 95 लोगों ने वैक्सीन लगवाई। देर शाम तक वैक्सीनेशन सेंटर पर लोगों की कतार लगी रही। आलम ये था कि अंधेरा होने पर 20-25 लोगों को बगैर वैक्सीन लगाए ही वापस लौटाना पड़ा।

पार्षद अनिता अग्रवाल और उनके पति राजीव रंजन का कहना है कि ग्रामीण क्षेत्रों में भी वैक्सीनेशन की रफ्तार बहुत धीमी है। अब हम ग्रामीण इलाकों में भी धोती, साड़ी, पैंट और शर्ट लेकर लोगों के बीच जाएंगे। वैक्सीन लगवाने वालों को इसे गिफ्ट में दिया जाएगा। नगर पालिका परिषद के कार्यपालक अधिकारी देवेंद्र कुमार और सिटी मैनेजर विजय कुमार सहित कई अधिकारी भी वैक्सीनेशन कैंप में पहुंचे। अधिकारियों ने भी वार्ड पार्षद की पहल की सराहना की।