कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों ने फिर साल 2020 जैसे हालात बना दिए हैं। कोरोना के केस बहुत ही तेज रफ्तार से बढ़ते जा रहे हैं। देश के की राज्यों ने तो लॉकडाउन लगा दिया है। साथ ही शैक्षणिक संस्थान भी बंद कर दिए गए हैं। महाराष्ट्र सरकार ने कोरोना से लोगों को बचाने के लिए लॉकडाउन लगाने का फैसला लिया है। अगले 15 दिनों तक टीवी सीरियल, एड शूट और फिल्मों की शूटिंग्स पर रोक लगा दी गई है।


फिल्ममेकर्स और फिल्म एसोसिएशन को इंडस्ट्री को होने वाले करोड़ों के नुकसान एक बार फिर होने वाला है। क्योंकि साल 2020 में कोरोना के कारण देश में देश व्यापी लॉकडाउन लागू किया गया था। जिससे कई करोड़ो का नुकसान उठाना पड़ा था। हाल ही में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने 15 दिन के लॉकडाउन की घोषणा की है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे द्वारा घोषित की गई ' ब्रेक द चेन' के आदेश के तहत आज रात 8 बजे से 1 मई की सुबह 7 बजे तक ये आदेश लागू किया गया है।


इस घोषणा में ठाकरे ने कहा कि केवल जरूरी सेवाओं को ही इस दौरान काम करने की इजाजत दी जाएगी। अब 15 दिनों तक थियटर बंद रहेंगे, जिसके कारण अगले दो हफ्तों में रिलीज होने वाली फिल्मों नहीं चल पाएगी। फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने एंप्लाइज (एफडब्ल्यूआईसीई) के अध्यक्ष बीएन तिवारी ने कहा कि राज्य सरकार का यह फैसला ‘बहुत बड़ा झटका’ है। इससे हमारे दिहाड़ी मजदूरों पर गहरा असर पड़ेगा।