बिहार वालों के लिए लॉकडाउन में घर जाने का रास्ता आसान हो गया है। दरअसल पूर्व मध्य रेल के दानापुर मंडल में कार्यरत सीनियर डिवीजन कमर्शियल मैनेजर आधार राज के मुताबिक 12 मई से चलने वाली सभी ट्रेनें जिनमें राजधानी स्तर की या एसी ट्रेनें शामिल हैं वो वो यहां से गुजरेंगी। यात्रियों को ट्रेन में बैठने की इजाजत दी गई है। बताया गया है कि 12 मई को दिल्ली से चलने वाली 15 जोड़ी ट्रेनें की टाइमिंग और उनका स्टॉपेज भी अलग अलग होगा।
12 मई से नई दिल्ली से देश के 15 स्थानों के लिए 30 ट्रेनों को चलाने का फैसला लिया गया है। उनमें पटना भी शामिल है। लेकिन 12 मई से शुरू होने वाले 15 स्पेशल ट्रेन में से पटना के साथ डिब्रूगढ़, अगरतला, हावड़ा, रांची, भुवनेश्वर जाने वाली 6 ट्रेन बिहार से होकर ही गुजरेगी। डिब्रुगढ़, अगरतला, हावड़ा, रांची और भुवनेश्वर के लिए जाने वाली स्पेशल ट्रेन का परिचालन दिल्ली हावड़ा रूट के रास्ते किया जा रहा है।
रांची के लिए दो रूट तय किए ग हैं। एक रांची स्पेशल ट्रेन को गया के रास्ते चलायी जाए या फिर झारखंड के ही डाल्टेनगंज के रास्ते से उसे रांची ले जाया जाए। जो ट्रेन यहां से गुजरेंगी उसके लिए ऐहतियात बरतने की व्यवस्था की जा रही है।
लॉकडाउन के दौरान अधिक से अधिक प्रवासियों को घर पहुंचाने के प्रयास में रेलवे ने अब ‘श्रमिक विशेष’ गाड़ियों में 1200 की जगह 1700 यात्रियों को भेजने का निर्णय किया है और तीन स्थानों पर इन ट्रेनों का ठहराव होगा।

बताया गया है कि लॉकडाउन में चलने वाली श्रमिक विशेष गाड़ियों में 24 डब्बे हैं और प्रत्येक डब्बे में 72 यात्रियों को ले जाने की क्षमता है। सामाजिक मेल जोल से दूरी के प्रोटोकॉल का पालन करने के लिये वर्तमान में प्रत्येक डब्बे में 54 यात्रियों को लेकर ले जाया जा रहा है।