बिहार में कोरोना संक्रमण की बढ़ती रफ्तार को कम करने के लिए सरकार ने 15 मई तक पूर्ण बंदी करने का फैसला लिया है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने अधिाकरिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर लिखा, कल (सोमवार) को सहयोगी मंत्रीगण एवं पदाधिकारियों के साथ चर्चा के बाद बिहार में फिलहाल 15 मई, 2021 तक लॉकडाउन लागू करने का निर्णय लिया गया। इसके विस्तृत मार्गनिर्देशिका एवं अन्य गतिविधियों के संबंध में आज ही आपदा प्रबंधन समूह को कार्रवाई करने हेतु निर्देश दिया गया है।

बिहार में कोरोना संक्रमितों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है। राज्य में कोरोना संक्रमण के सोमवार को 11,407 नए मामले सामने आने के बाद राज्य में कोरोना के एक्टिव (सक्रिय) मरीजों की संख्या 1,07,667 पहुंच गई है। पिछले 24 घंटे के दौरान राज्य में 82 संक्रमितों की मौत हो गई है। गौरतलब है कि राज्य में संपूर्ण बंदी को लेकर लगातार मांग उठ रही थी। आईएमए और व्यपारिक संगठनों सहित विभिन्न राजनीतिक दलों ने भी संपूर्ण बंदी करने की मांग की थी। बिहार में फिलहाल 6 बजे शाम से सुबह 6 बजे तक नाइट कफ्र्यू लगाया जा रहा था।

गौरतलब है कि केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने कहा कि भारत ने 3,57,229 ताजे मामलों के साथ कोविड की संख्या में गिरावट दर्ज की गई है। पिछले 24 घंटे में 3,449 लोगों की मौत हुई है। यह 13 वां सीधा दिन है जब भारत ने तीन लाख से अधिक मामले दर्ज किए हैं जबकि पिछले सात दिनों में 3,000 से अधिक लोगों की मौत हुई है। भारत के कोविड मामलों की कुल संख्या अब 34,47,133 सक्रिय मामलों और 2,22,408 मौतों के साथ 2,02,82,833 तक पहुंच गई है। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के अनुसार, ठीक होने के बाद पिछले 24 घंटों में कुल 3,20,289 लोगों को इलाज के बाद छुट्टी दी गई है।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि देश में अब तक 15,89,32,921 लोगों को टीका लगाया गया है, जिनमें 17,08,390 लोग शामिल हैं, जिन्हें पिछले 24 घंटों में टीके लगाए गए थे। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के अनुसार, कोविड के लिए सोमवार तक 29,33,10,779 नमूनों का परीक्षण किया गया है, इनमें से 16,63,742 नमूनों का सोमवार को परीक्षण किया गया।