बिहार में 30 जून तक लॉकडाउन रहेगा लेकिन बसें चलने के साथ कई जगहों पर छूट दी गई है। लॉकडाउन 5.0 के ऐलान के साथ ही बिहार में आज से बसों और सार्वजनिक वाहनों का परिचालन शुरू हो जाएगा। 8 जून से शॉपिंग मॉल, होटल, रेस्टोरेंट और धार्मिक स्थल भी खोले जा सकेंगे। केंद्र की गाइडलाइंस का पालन ही बिहार में कराया जाएगा। प्रदेश सरकार लॉकडाउन 5.0 को लेकर अपनी ओर से कोई गाइडलाइन जारी नहीं करेगी। इसको लेकर गृह विभाग ने आदेश जारी किया है।
बिहार में अनलॉक-1 के तहत सोमवार से बसों और पब्लिक ट्रांसपोर्ट को खोलने की इजाजत दे दी गई है। इस दौरान सोशल डिस्टेंस का खास तौर से पालन करने के निर्देश दिए गए हैं। बसों और पब्लिक ट्रांसपोर्ट में एक सीट पर सिर्फ एक यात्री के बैठने की इजाजत दी गई है। एक से ज्यादा सवारी बैठाने पर कार्रवाई की जा सकती है। इसके अलावा यात्री किराये में कोई बढ़ोतरी नहीं की जाएगा। लॉकडाउन के पहले जो किराया था वही किराया मान्य रहेगा। परिवहन विभाग ने पब्लिक ट्रांसपोर्ट की व्यवस्था सुचारू से लागू करने के लिए सभी जिलों के डीएम, एसएसपी और एसपी को निर्देश जारी किया है।
बिहार में ऑटो, टैक्सी, ई-रिक्शा और ओला-उबर का परिचालन कंटेनमेंट जोन को छोड़कर सभी जगहों पर होगा। इसमें पहले से जारी ऑड-ईवन का फॉर्मूला खत्म कर दिया गया है। अब सभी ऑटो, टैक्सी, ई-रिक्शा और ओला-उबर रोजाना चलेंगे। निजी वाहनों को भी किसी पास की जरूरत नहीं होगी। वहीं, कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए परिवहन विभाग ने कई दिशा-निर्देश जारी किए हैं, इसमें सोशल डिस्टेंस का पालन करना, ड्राइवर और कंडक्टर को मास्क-ग्लव्स का इस्तेमाल करने के लिए कहा गया है। इसके साथ ही रात 9 बजे से सुबह के 5 बजे कर्फ्यू जारी रहेगा।
अनलॉक-1 में कंटेनमेंट जोन को छोड़कर सभी जगहों पर दुकानें आज खुल सकेंगी। शॉपिंग कॉम्प्लेक्स और मॉल्स को छोड़कर सभी प्रकार की दुकानें निर्धारित समय में खुलेंगी, लेकिन सोशल डिस्टेंस का पालन करना अनिवार्य होगा। किसी भी दुकान में एक समय पर पांच ग्राहक से ज्यादा नहीं रहेंगे। दुकानदारों को सेनिटाइजर का इस्तेमाल करना होगा और साथ ही स्वच्छता पर भी विशेष ध्यान देना होगा। दुकान में काम करने वाले सभी लोग मास्क का इस्तेमाल करेंगे और ग्राहकों को भी मास्क जरूर लगाना होगा। वहीं, 8 जून से प्रदेश में शॉपिंग मॉल, होटल, रेस्टोरेंट और धार्मिक स्थल भी खुल सकेंगे।