बिहार में लॉकडाउन का आज पहला दिन है और लोगों पर जमकर सख्ती की जा रही है। कोरोना के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए नीतीश सरकार ने कल ही 5 मई से 15 मई तक लॉकडाउन की घोषणा की है। इस अवधि के दौरान सुबह 11 बजे के बाद बेवजह घर से निकलने वालों पर कार्रवाई का आदेश दिया गया है। इसी क्रम में बुधवार को लॉकडाउन के पहले ही दिन पटना प्रशासन 11 बजे के बाद बेवजह घर से बाहर निकल लोगों के साथ सख्ती से पेश आती दिखी।
पुलिस जवानों ने चटकाईं लाठियां
पटना प्रशासन ने बेवजह घर से बाहर निकलने वालों पर लाठियां चटकाईं और उन्हें जल्द से जल्द घर जाने की चेतावनी दी। इधर, पटना डीएम चंद्रशेखर सिंह और एसएसपी उपेंद्र शर्मा भी पटना की सड़कों पर स्थिति का जायजा लेते दिखे। दल बल के साथ दोनों अधिकारी पटना के राजापुल इलाके में पहुंचे और लोगों को समझाते हुए नज़र आए। वहीं, उन्होंने लोगों के फिजूल में बाहर ना निकलने की चेतावनी भी दी।

इस दौरान पटना डीएम ने पत्रकारों से बातचीत की। उन्होंने कहा कि सुबह सात बजे से ग्यारह बजे तक सब्जी या जरूरी सामान खरीदने के लिए बाहर निकलने की छुट दी गई है। उसके अलावा कोई बाहर निकालता है, तो उस पर कार्रवाई होगी।

ये है नियम
गौरतलब है कि सरकारी गाइडलाइन के अनुसार सार्वजनिक स्थानों और मार्गों पर अनावश्यक आवागमन (पैदल सहित) पूर्णतः प्रतिबंधित किया गया है। सभी के वाहनों का परिचालन बंद रखने का आदेश दिया गया है। हालांकि पब्लिक ट्रासपोर्ट में निर्धारित बैठने की क्षमता के 50 प्रतिशत के उपयोग की अनुमति है। लेकिन रेल, वायुयान और अन्य लंबी दूरी यात्रा करने वालों और अनुमान्य सेवाओं से संबंधित व्यक्तियों को ही सार्वजनिक परिवहन के उपयोग की अनुमति है। इसके अलावा जिन निजी वाहनों के पास सरकारी पास होगा वो ही लॉकडाउन की अवधि के दौरान वाहन लेकर कहीं आ या जा सकेंगे।