एसवीसी सहकारी बैंक (SVC Co-operative Bank) ने लोन उत्सव की शुरुआत की है। इसके तहत आकर्षक दरों पर व्हीकल लोन (Vehicle Loan), गोल्ड लोन (Gold Loan) और चिकित्सकों के लिए लोन की पेशकश की जा रही है। इसके साथ ही बैंक न्यूनतम 6.45 फीसदी की दर से होम लोन (Home Loan) की पेशकश कर रहा है।

एसवीसी बैंक ने एक बयान में कहा कि ‘एसवीसी महा लोन उत्सव’ (SVC Maha Loan Utsav) के तहत आकर्षक दरों पर कंज्यूमर लोन प्रोडक्ट की पेशकश की जा रही है, जो 11 राज्यों में बैंक की सभी 198 शाखाओं में 31 दिसंबर, 2021 तक उपलब्ध होगा।

बैंक ने कहा कि उसने प्रस्ताव अवधि के दौरान होम लोन पर ब्याज दर को संशोधित कर 6.45 फीसदी कर दिया है, जबकि व्हीकल लोन पर प्रति वर्ष 7 फीसदी और गोल्ड लोन पर 8.50 फीसदी प्रति वर्ष की दर से शुल्क लिया जाएगा। यह संपत्ति और डॉक्टरों के लोन पर 8.75 फीसदी प्रत्येक पर लोन की पेशकश करेगा।

एसवीसी सहकारी बैंक के मैनेजिंग डायरेक्टर आशीष सिंघल ने कहा, नया साल एक नई शुरुआत का समय है और हमारे ग्राहकों की सशक्त आकांक्षाओं के अनुरूप महा लोन उत्सव लॉन्च किया है। इसे सबसे अच्छी दरों और अधिक आसानी, तेज प्रोसेसिंग और हमारे ग्राहकों को व्यापक पहुंच प्रदान करने के लिए उत्पादों की विस्तृत सीरीज डिजाइन किया गया है।

बैंक के पहले ‘लोन उत्सव’ के तीन एडिशन थे एसवीसी बैंक के सभी ग्राहक जो लोन लेने के इच्छुक हैं, वे एसवीसी केयर को 18003132120 पर कॉल कर सकते हैं या किसी भी शाखा में जा सकते हैं।

देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक, भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने ब्याज दरों में बढ़ोतरी की है। एसबीआई ने बेस रेट और प्राइम लेंडिंग रेट में 10-10 बेसिस प्‍वाइंट का इजाफा किया है। इसके बाद बेस रेट 7.45 फीसदी से बढ़कर 7.55 फीसदी और प्राइम लेंडिंग रेट 12.20 फीसदी से बढ़कर 12.30 फीसदी हो गया है। नई ब्‍याज दरें 15 दिसंबर 2021 से लागू हो गई हैं।

स रेट में वृद्धि के साथ ब्याज दरें पहले से महंगी हो जाएंगी और लोन जैसे प्रोडक्ट पर अधिक ब्याज देना होगा। बेस रेट तय करने का अधिकार बैंकों के हाथ में होता है। कोई भी बैंक, चाहे वह प्राइवेट हो या सरकारी, बेस रेट के नीचे लोन ऑफर नहीं कर सकता है। प्राइवेट और सरकारी सभी बैंक बेस रेट को स्टैंडर्ड मानते हैं। इसी आधार पर लोन आदि दिए जाते हैं।

बैंक ने लेंडिंग रेट के मार्जिनल कॉस्ट में कोई बदलाव नहीं किया है। ये रेट पहले की तरह बने रहेंगे। एसबीआई का होम लोन सेक्टर में बड़ा हिस्सा है। कुल 34 फीसदी मार्केट पर एसबीआई का कब्जा है।