लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) ने दिल्ली विधानसभा की सभी 70 सीटों पर चुनाव लड़ने का एलान किया है। पार्टी ने 15 उम्मीदवारों की अपनी पहली सूची भी जारी कर दी। लोजपा राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) का घटक दल है, लेकिन पार्टी ने दिल्ली में गठबंधन से अलग होकर अपने दम पर चुनाव लड़ने का फैसला लिया है।

लोजपा के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष विनोद नागर ने यहां एक प्रेसवार्ता में कहा कि उनकी पार्टी देश की राजधानी में पीने का साफ पानी का संकट, बेरोजगारी, सीलिंग और महंगाई की समस्या जैसे मुद्दों को लेकर जनता के बीच में जाएगी। राजग से अगल होकर चुनाव लड़ने के मसले पर पूछे गए सवाल पर लोजपा के दिल्ली प्रदेश प्रभारी काली पांडेय ने कहा कि उनकी पार्टी का गठबंधन सिर्फ बिहार में है, अन्य जगहों पर पार्टी अगल चुनाव लड़ने के लिए स्वतंत्र है।

गौरतलब है कि इससे पहले झारखंड में भी लोजपा ने राजग गठबंधन से अलग होकर विधानसभा चुनाव में अपने उम्मीदवार उतारे थे, हालांकि पार्टी के एक भी प्रत्याशी चुनाव जीतने में कामयाब नहीं रहे। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि झारखंड में अगर लोजपा के साथ भाजपा का गठबंधन होता तो चुनाव के जो चुनाव के परिणाम कुछ और होते। दिल्ली में भाजपा के साथ गठबंधन होने की संभावना पर पूछे गए सवाल पर लोजपा नेता ने कहा कि इस पर पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान और पार्टी के संरक्षक राम विलास पासवान का फैसला अंतिम होगा।

गौरतलब है कि राम विलास पासवान केंद्र सरकार में कैबिनेट मंत्री हैं। नागर ने कहा कि दिल्ली में पार्टी पूरी ताकत के साथ चुनाव लड़ेगी। उन्होंने सदर बाजार, मुश्तफाबाद, मोतीनगर और देवली समेत विधानसभा 15 सीटों के लिए उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की। लोजपा ने सदर बाजार से राजीव कुमार शर्मा, मुश्तफाबाद से अनिल कुमार गुप्ता, मोती नगर से महेश दुबे, देवली से सुनील तंवर, नरेला से अमरेश कुमार, मादीपुर से पूनम राणा, किराड़ी से अजीत कुमार, त्रिनगर से कमलदेव राय, शालीमार बाग से शिवेंद्र मिश्रा, वजीरपुर से शंकर मिश्रा, मटियाला महल से सुमित्रा पासवान, संगम विहार से अरविंद कुमार झा, नजफगढ़ से रामकुमार लांबा, उत्तम नगर से रतन कुमार शर्मा और लक्ष्मीनगर से नमह को उम्मीदवार बनाया है।

अब हम twitter पर भी उपलब्ध हैं। ताजा एवं बेहतरीन खबरों के लिए Follow करें हमारा पेज :  https://twitter.com/dailynews360