लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के अध्यक्ष चिराग पासवान ने शनिवार को पार्टी के स्थापना दिवस के मौके पर पार्टी के कार्यकर्ताओं को एक पत्र लिखकर आशंका जताई है कि बिहार विधानसभा चुनाव 2025 की निश्चित समय के पहले भी हो सकते हैं। उन्होंने पत्र में भाजपा का नाम लिए बिना कहा कि बिना किसी गठबंधन और स्टार प्रचारकों के एक सीट पर जीत हासिल की है, तथा 24 लाख वोट प्राप्त किए हैं।

चिराग ने अपने पत्र में सबसे पहले पार्टी के संस्थापक रामविलास पासवान को याद करते हुए लिखा है कि पापा (रामविलास पासवान) अब हमारे बीच नहीं हैं, जिससे हम सभी को अपूर्णीय क्षति हुई है। पत्र में लिखा गया है कि पार्टी को 24 लाख वोट और लगभग 6 प्रतिशत मत अकेले प्राप्त हुए हैं, जो लोजपा के विस्तार को साफ दिखाता है। पत्र में कहा गया है कि बिहार में पार्टी ने ‘बिहार फस्र्ट, बिहारी फस्र्ट’ के साथ कोई समझौता नहीं किया। पत्र में दावा किया गया है कि नए लोगों के जुडऩे से पार्टी पहले से मजबूत हुई है।

पत्र में लिखा गया है, ‘‘बिहार विधानसभा चुनाव में जाने से पूर्व पार्टी के पास दो विकल्प थे। 15 सीट पर विधान सभा चुनाव लड़े या ’फ्रेंडली फाइट’ करें। गठबंधन में पार्टी को मात्र 15 सीट देने की बात कही थी, जिसे लोजपा संसदीय बोर्ड ने नहीं माना और अधिकांश सीटों पर ‘फ्रेंडली फाइट’ करने का निर्णय लिया गया।’’ पार्टी ने अकेले 135 प्रत्याशी मैदान में उतारे और एक सीट पर जीत दर्ज की और छह प्रतिशत वोट हासिल किए। पत्र में लिखा गया है, ‘‘बिहार विधानसभा के अगले चुनाव 2025 से पहले भी हो सकते हैं। हम सभी को 243 विधानसभा क्षेत्र की तैयारियों में अभी से लग जाना चाहिए, जिससे सभी 243 सीटों पर पार्टी बिहार के लिए अपना विजन रख पाएं।’’ उन्होंने दावा करते हुए कहा कि हम ‘बिहार फस्र्ट, बिहारी फस्र्ट’ के संकल्पित लक्ष्य को प्राप्त करेंगे।