लाइटहाउस बीच का नाम इस वजह से लाइटहाउस पड़ा क्योंकि इस बीच पर एक लाइट हाउस है। यह यहां का मुख्य बीच है इस पर विदेशियो की संख्या सबसे ज्यादा रहती है। यह तिरूअनंतपुरम से करीब 16 किलोमीटर की दूरी पर है। कोवलम बीच इसके पास में ही है। इसलिए दोनों बीच को घूमने का प्लान एक साथ बना सकते हैं। 

बता दें कि इस बीच पर विदेशी पर्यटकों की भरमार रहती है। क्योंकि यह पहाडी पर बने प्राइवेट होटल का प्राइवेट बीच है। यहां पर आम या हिंदुस्तानी सैलानी नहीं जा सकते। क्योंकि  उनकी संस्कृति और हमारी संस्कृति मेल नहीं खा​ती और अगर आप परिवार के साथ हैं तो आप उन्हे दूर से देखकर ही असहज महसूस करेंगे। 

खासतौर पर जब आपके साथ बड़े उम्र के लोग हों और छोटे बच्चे। छोटे बच्चे उन्हे देखकर कुछ असहज सवाल कर सकते हैं जबकि बड़ों के होने के कारण आपको चोरी छुपे देखना पड़ सकता है। अगर आप केवल युगल या हमउम्र मित्रो के साथ हों तो कोई दिक्कत ना आपको होगी ना उन्हें। 

लाइट हाउस बीच दिन में 2 से 4 बजे के बीच ही खुलता है। 4 बजे के बाद यहां एंट्री नहीं होती है। इसलिए यहां जब भी जाएं, समय का ख्याल जरूर रखें।

इस बीच पर कुछ नावे भी देखने को मिल जाएंगी। ये नावे समुद्र में काफी दूर तक घुमाने के लिए पर्यटकों को ले जाती है। जिसका रेट 250 रू एक आदमी का है। बोट पर आप समुद्र की तेज उफनती लहरो और उस पर उछलती नौका का मजा ले सकते हैं।