एलआईसी के पॉलिसीधारकों के लिए खुशखबरी है। केंद्र सरकार ने संकेत दिया है कि एलआईसी के आईपीओ में शेयरों का 10 फीसदी हिस्सा इसके पॉलिसीधारकों के लिए आरक्षित किया जा सकता है।

गौरतलब है कि वित्त वर्ष 2021.22 का बजट पेश करते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने यह ऐलान किया है कि अगले वित्त वर्ष में भारतीय जीवन बीमा निगम एलआईसी के विनिवेश का काम पूरा कर लिया जाएगाण् सरकार एलआईसी का आईपीओ लाएगी यानी इसका कुछ हिस्सा लोगों को शेयर बाजार के द्वारा बेचा जाएगा।

निवेश और लोक संपत्त‍ि प्रबंधन विभाग के सचिव तुहिन कांत पांडे ने बताया कि एलआईसी के आईपीओ से 10 फीसदी हिस्सा इसके पॉलिसीधारकों को दिया जा सकता है। सरकार का इरादा इसके पॉलिसीधारकों को कंपनी का हिस्सेदार बनाने का है। सरकार सेल और भेल जैसी कंपनियों में रणनीतिक बिक्री कर सकती है। इसके अलावा सरकार जल्द से जल्द बीपीसीएल और एअर इंडिया को बेचना चाहती है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट पेश करते हुए साल 2021-22 में विनिवेश के जरिये पौने दो लाख करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य रखा है। इसी के तहत एलआईसी की कुछ हिस्सेदारी बेचने का भी ऐलान किया गया है।
पिछले साल ही सरकार ने एलआईसी, बीपीसीएल, एअर इंडिया जैसी कंपनियों के विनिवेश का ऐलान किया था, लेकिन कोरोना संकट की वजह से ये योजनाएं परवान नहीं चढ़ पाईं। पिछले साल सरकार ने विनिवेश से 2.1 लाख करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य रखा था लेकिन जुटा करीब 20 हजार करोड़ रुपया ही। अब वित्त मंत्री ने अगले वित्त वर्ष यानी 2021-22 में एलआईसी का आईपीओ लाने का ऐलान किया है।