केन्द्र और राज्य सरकारों के विभिन्न मंत्रालय/विभागों द्वारा राष्ट्रीय असंगठित कामगार डाटाबेस का क्रियान्वयन किया जा रहा है, इसमें विभिन्न सामाजिक सुरक्षा और कल्याणकारी योजनाओं को देने का काम किया जायेगा। 

हिन्द मजदूर सभा राजस्थान प्रदेश के सहायक महामंत्री इरशाद खान ने बताया कि आज दिनांक 24 अगस्त मंगलवार को ई-श्रम पोर्टल के शुभारंभ अवसर पर हिन्द मजदूर सभा के राष्ट्रीय महामंत्री श्री हरभजन सिंह सिद्धू तथ हिन्द मजदूर सभा के राष्ट्रीय सचिव मुकेश गालव इस बैठक में उपस्थित रहे।  इस बैठक की अध्यक्षता केन्द्रीय श्रममंत्री श्री भूपेन्द्र यादव ने की। 

ई-श्रम पोर्टल से यह मिलेगा लाभ

बैठक में असंगठित क्षेत्र में कार्य करने वाले श्रमिको को डाटाबेस तैयार कर विभिन्न सामाजिक सुरक्षा और कल्याणकारी योजनाओं को श्रमिकों को देने का काम किया जायेगा।  इसमें श्रमिकों को बार बार पंजीकरण कराने से मुक्ति मिलेगी।  देश भर में ई-श्रम कार्ड मान्य होगा, जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ किसी भी राज्य में प्राप्त कर सकेंगे।  डाटाबेस का उद्देश्य सभी असंगठित कामगारों का एक आधार आधारित केन्द्रीय डाटाबेस बनाना, जिसमें निर्माण कामगार, प्रवासी कामगार, गिग और प्लेटफार्म कामगार, स्ट्रीट वेन्डर, घरेलू कामगार, कृषि कामगार आदि शामिल रहेगें। 

हिन्द मजदूर सभा ने किया पोर्टल  का स्वागत, कहा- छूटे कामगारों को भी जोड़ें

हिन्द मजदूर सभा के राष्ट्रीय महामंत्री श्री हरभजन सिंह सिद्धू ने इस ई-श्रम पोर्टल का स्वागत करते हुये कहा कि इस पोर्टल पर अन्य जो कामगार छूट गये हैं, उनको भी इस डाटाबेस में शामिल किया जाये।  श्री मुकेश गालव ने अपना पक्ष रखते हुये कहा कि भारतीय रेलवे के मालगोदामों में कार्यरत हम्माल, वेन्डर्स, कुली केजुअल लेबर इत्यादि का भी इसमें रजिस्ट्रेशन होना अनिवार्य होना चाहिये। 

एचएमएस पदाधिकारियों का श्रममंत्री ने किया सम्मान

केन्द्रीय श्रममंत्री भूपेन्द्र यादव ने हिन्द मजदूर सभा के तर्क को गंभीरता से लेते हुये कहा कि इस ई-श्रम पोर्टल पर शीघ्र ही तमाम असंगठित क्षेत्र में कार्य करने वाले 1-1 श्रमिकों को इस सूची में शामिल कर इनका पंजीकरण किया जायेगा।  बैठक के अन्त में केन्द्रीय श्रममंत्री भूपेन्द्र यादव ने हिन्द मजदूर सभा के राष्ट्रीय महामंत्री हरभजन सिंह सिद्धू तथा राष्ट्रीय सचिव मुकेश गालव को स्मृति चिन्ह भेंट करके सम्मानित किया।