तमिलनाडु में कन्नूर के जंगलों में बुधवार को सेना का एमआई-17 हेलिकॉप्टर क्रैश (Army Mi-17 helicopter crashed) हो गया. घने जंगलों में हुए इस हादसे के बाद हेलिकॉप्टर में आग लग गई. इसमें चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) जनरल बिपिन रावत (General Bipin Rawat) , उनकी पत्नी मधुलिका समेत सेना के 11 अफसर सवार थे. अब तक 11 शव बरामद किए गए हैं, जो बुरी तरह जल चुके हैं.

हादसे के करीब एक घंटे बाद यह जानकारी दी गई कि जनरल रावत को (General Rawat has been taken to the hospital) अस्पताल ले जाया गया है, हालांकि उनकी स्थिति क्या है, इस बारे में कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं किया गया है. 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) को इस हादसे की जानकारी दे दी गई है. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह थोड़ी देर में हादसे के बारे में संसद में बयान देंगे. जनरल बिपिन रावत 31 दिसंबर 2016 से 31 दिसंबर 2019 तक सेना प्रमुख के पद पर रहे. उन्होंने 1 जनवरी 2020 को चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ का जिम्मा संभाला.

 ये लोग सवार थे1. जनरल बिपिन रावत, मधुलिका रावत, ब्रिगेडियर एलएस लिद्दर, ले. क. हरजिंदर सिंह,  नायक गुरसेवक सिंह, नायक. जितेंद्र कुमार, लांस नायक विवेक कुमार, लांंस नायक बी. साई तेजा, हवलदार सतपाल.

Ravi Shankar Prasad on Bipin Singh Rawat

हेलिकॉप्टर सुलूर एयरबेस से वेलिंगटन जा रहा था. मौके पर डॉक्टर्स, सेना के अफसर और कोबरा कमांडो की टीम मौजूद है. जो शव बरामद किए गए हैं, उनकी पहचान की कोशिश की जा रही है, क्योंकि ये बुरी तरह जल गए हैं. कुछ और शव पहाड़ी से नीचे नजर आ रहे हैं. हादसे के जो विजुअल सामने आए हैं, उनमें हेलिकॉप्टर पूरी तरह क्षतिग्रस्त नजर आ रहा है और उसमें आग लगी हुई है.

पिछले महीने भी क्रैश हुआ था एमआई-17, सभी 12 सवार मारे गए थे

एक महीने के अंदर देश में दूसरा एमआई-17 हेलिकॉप्टर क्रैश हुआ है. पिछला चॉपर 19 नवंबर को अरुणाचल प्रदेश में क्रैश हुआ था. उस घटना में चॉपर में सवार सभी 12 लोग मारे गए थे.