कोरोना संक्रमण को लेकर चीन अब दुनियाभर के देशों के निशाने पर है। अमरीका और ब्रिटेन के साथ ही कई पश्चिमी देशों ने नए साक्ष्यों के आधार पर कोरोना वायरस की उत्पत्ति को लेकर चीन को एक बार फिर घेरना शुरू कर दिया है। 

अमेरीकी खुफिया एजेंसियों की ताजा रिपोर्ट ने इस बात की आशंका को मजबूत किया है कि चीन के वुहान स्थित वायरोलॉजी लैब में ही कोरोना वायरस की उत्पत्ति हुई थी जिसने धीरे-धीरे पूरी दुनिया को अपनी जद में ले लिया है। व्हाइट हाउस के सीनियर एडवाइजर फॉर सीओवीआईडी ​​​​रिस्पॉन्स ऑन वायरस ऑरिजिंस के एंडी स्लाविट ने कहा है कि हमें चीन से पारदर्शी प्रक्रिया की जरूरत है। इसके लिए डब्ल्यूएचओ को मदद करनी चाहिए। हमें इसकी तह तक जाने की जरूरत है। 

वहीं शीर्ष अमरीकी विशेषज्ञ डॉ. एंथनी फौसी का कहना है कि हम दृढ़ता से महसूस करते हैं कि हमें जांच जारी रखनी चाहिए। डब्ल्यूएचओ को जांच के अगले चरण तक जाना चाहिए। क्योंकि हम 100 प्रतिशत नहीं जानते हैं कि वायरस की उत्पत्ति कहां से और कैसे हुई। लेकिन यह जानना जरूरी है। डॉ. एंथोनी ने इस वायरस के मानवनिर्मित होने के तथ्य को मजबूत मानते हुए चीन में और ज्यादा खोज-बीन करने की बात कही है। भारत फिलहाल इस पर चुप है और सीधे आरोप से बचना चाहता है।

कोरोना वायरस की उत्पत्ति को लेकर चीन वैश्विक स्तर पर कठघरे में है। लगातार अलग-अलग साक्ष्यों के जरिए उस पर शक गहराता भी जा रहा है। माना जा रहा है कि चीन ने डब्ल्यूएचओ की टीम को कोरोना वायरस की उत्पत्ति से जुड़ी सारी सूचनाएं नहीं दी हैं। इस पर भारत ने भी चिंता जताई थी। भारत ने कहा था कि, डब्ल्यूएचओ के डायरेक्टर जनरल ने यह कहा है कि उन्हें पर्याप्त डाटा उपलब्ध नहीं कराया गया था। भारत इस बात का समर्थन करता है कि डब्ल्यूएचओ को इस विषय पर अध्ययन के लिए संबंधित पक्षों को पूरी सूचनाएं देनी चाहिए, खास तौर पर यह वायरस कैसे उत्पन्न हुआ और कहां से उत्पन्न हुआ है, इससे जुड़ी सूचनाओं को।

वहीं ब्रिटेन के पीएम बोरिस जॉनसन के पूर्व मुख्य सलाहकार डोमिनिक कमिंग्स ने दावा किया है कि प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस को कुंग फ्लू बताया था। वहीं डोमिनिक ने आरोप लगाया कि बोरिस ने लॉकडाउन लगाने में देरी की, जिसके कारण ब्रिटेन में कोरोना संक्रमण अधिक फैला और हजारों लोगों की जान चली गई। डोमिनिक ने आरोप लगाए कि पिछले साल फरवरी में जब जॉनसन को कोरोना को लेकर बड़े कदम उठाने चाहिए थे, तब वह अपनी गर्लफ्रेंड कैरी साइमंड्स के साथ लंबी छुट्टी मनाने चले गए। जिससे हालात बिगड़ गए।