भारत रत्न और दिग्गज गायिका लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) की सेहत में लगातार सुधार देखा जा रहा है। बता दें कि लता मंगेशकर मुंबई के प्रमुख निजी अस्पताल के आईसीयू में भर्ती हैं। 92 वर्षीय मंगेशकर को कोविड -19 और संबंधित स्वास्थ्य समस्याओं के साथ दक्षिण मुंबई में उनके घर के पास ब्रीच कैंडी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। अनुषा श्रीनिवासन अय्यर ने बताया कि उनकी हालत में पहले की तुलना में सुधार हो रहा है और वह डॉ. पी. समदानी के नेतृत्व में डॉक्टरों की अद्भुत टीम की देखरेख में हैं। उन्होंने कहा कि सभी प्रार्थना कर रहे हैं और लता दीदी के शीघ्र स्वस्थ होने और जल्द घर लौटने का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं।

इससे पहले डॉ. प्रतीत समदानी (Dr. Pratima Samdani) ने बताया था कि लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) को कोरोना और निमोनिया दोनों हुआ है। उनकी उम्र को ध्यान में रखते हुए डॉक्टर्स ने सलाह दी है कि उन्हें देखभाल की जरूरत है। इसलिए उन्हें आईसीयू में भर्ती किया गया है । कुछ दिनों पहले वॉर्ड के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया था कि लता मंगेशकर किसी और मेडिकल कंडीशन के चेकअप के लिए अस्पताल आई थीं, लेकिन यहां इलाज के दौरान उन्हें कोविड से संक्रमित हो गई थीं। कुछ दिन पहले लता मंगेशकर की भतीजी रचना शाह (Rachna Shah, niece of Lata Mangeshkar) ने बताया था कि गायिका अब ठीक हो रही है। वे जल्दी ही रिकवर रह रही है। बता दें कि लता मंगेशकर पहले भी कोरोना संक्रमित हुईं थी। उस दौरान भी उन्हें आईसीयू में भर्ती कराया गया था। 

गौरतलब है कि लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) देश की सबसे प्रसिद्ध गायिकाओं में से एक हैं। उन्हें कई राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय पुरस्कारों के अलावा दादा साहब फाल्के पुरस्कार और फ्रांस के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार, लीजन ऑफ ऑनर से सम्मानित किया गया था। 1974 में उनका नाम गिनीज बुक ऑफ रिकॉड्र्स भी शामिल किया गया था। उन्होंने 1948 और 1974 के बीच 25,000 से अधिक गाने गाए थे। लता मंगेश्कर को साल 2001 में भारत रत्न दिया गया था।