सोशल मीडिया पर हिंदू देवी देवताओं के खिलाफ आपत्तिजनक पोस्ट करने की आरोपी सना खान के खिलाफ पुलिस ने देशद्रोह समेत कई गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। अब सना उर्फ हीर खान का लैपटॉप और मोबाइल खुल्दाबाद पुलिस ने जांच के लिए लखनऊ स्थित फॉरेंसिक लैब भेज दिया। पुलिस सूत्रों ने बताया कि हीर के लैपटॉप और मोबाइल की जांच के लिए फारेंसिक लैब भेजा गया है। उसकी रिपोर्ट आने के बाद उसके और राज को पर्दाफाश होगा। 

उन्होंने बताया कि रिमांड पर ली गयी हीर से लगातार पुलिस के साथ एसटीएफ के अधिकारी पूछताछ कर रहे हैं। गौरतलब है कि यूट्यूब पर भडकाऊ वीडियो अपलोड करने के मामले में खुल्दाबाद थाना क्षेत्र के नुरूल्ला रोड निवासी सना उर्फ हीर को बुधवार की शाम गिरफ्तार किया गया था। गिरफ्तारी के बाद इसे नैनी सेन्ट्रल जेल भेज दिया गया था। पांच दिनों की कस्टडी रिमांड मिलने के बाद शनिवार की शाम खुल्दाबाद पुलिस ने नैनी सेन्ट्रल जेल पहुंचकर उसे थाने लाकर पूछताछ कर रही है। 

उन्होंने बताया कि उसने पूछताछ करने वाले अधिकारियों को गुमराह करने की कोशिश किया, लेकिन सख्ती करने पर पाकिस्तान, हैदराबाद और दिल्ली जैसे शहरों में रहने वाले जिनके संपर्क में रही उनके बारे में जानकारी दी है। हैदराबाद के दो युवक उसके पास वीडियो भेजते थे। हिन्दू देवी- देवताओं समेत प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री आदि के आपत्तिजनक वीडियों बनाकर यू ट्यूब पर अपलोड करने को कहते थे। सेन्ट्रल जेल भेजे जाने से पहले अधिकारियों द्वारा पूछताछ में इसने स्वीकार किया कि वह साउदी अरब, हैदराबाद, कानपुर, दिल्ली निवासी कुछ युवकों तथा अलीगढ मुस्लिम विश्वविद्यालय के छात्र के संपर्क में थी। उसका एक रिश्तेदार जमात-ए-इस्लाम-ए-हिंद से जुडा है और इसी का बेटा स्टूडेंट इस्लामिक आर्गनाइजेशन का सदस्य है। इन दोनों के साथ हीर भी मंसूर अली पार्क में सीएए और एनआरसी विरोधी प्रदर्शन में शामिल होकर भाषण दिया था।