Sri Lankan government  ने एक विज्ञापन जारी किया है, जिसमें लोगों को ऐसे दस्तावेजों को साझा करने के लिए कहा गया है, जिससे यह साबित हो सके कि हिंदू महाकाव्य Ramayana का खलनायक राक्षसों का राजा रावण दुनिया में पहले विमान उड़ाने वाला शख्स था। 

Ministry of Tourism and Aviation द्वारा जारी किए गए अखबार के विज्ञापन में लोगों को King Ravana से संबंधित किसी भी दस्तावेज या पुस्तकों को साझा करने का आग्रह किया गया है, ताकि पौराणिक राजा रावण के साथ ही देश के उड्डयन की खोई विरासत पर गहन शोध करने की सरकार की महत्वाकांक्षी परियोजना में मदद मिल सके। 

दिलचस्प बात यह है कि Sri Lanka's Civil Aviation Authority ने अब 5,000 साल पहले रावण द्वारा उड़ान भरने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले तरीकों को समझने के लिए एक पहल शुरू की है।  नागरिक उड्डयन प्राधिकरण के पूर्व उपाध्यक्ष शशि दानतुंज ने बताया, Raja Ravana एक प्रतिभाशाली व्यक्ति था। वह उड़ान भरने वाला पहला व्यक्ति था।  वह एक विमान चालक था।  यह पौराणिक कथा नहीं है, यह एक तथ्य है।  इस पर विस्तृत शोध किए जाने की आवश्यकता है।  इसे अगले पांच वर्षों में हम यह साबित करेंगे। 

यह काफी उल्लेखनीय है कि श्रीलंका ने उन कहानियों को खारिज कर दिया कि रावण ने  Lord Rama की पत्नी सीता का अपहरण किया था।  सरकार ने यह दावा करते हुए कि यह एक भारतीय संस्करण था और रावण एक महान राजा था।  श्रीलंका में प्राचीन लंका के राजा के बारे में इन दिनों रुचि है। 

श्रीलंका ने हाल ही में अपने पहले अंतरिक्ष मिशन में बाहरी अंतरिक्ष में satellite named Ravana  को भेजा है।  बताते चलें कि पौराणिक कथाओं और रामायण के अनुसार, रावण के पास पुष्पक नाम का एक विमान था।  इसी विमान पर उसने सीता माता का अपहरण किया था।