कोरोना का कहर देश में बहुत तेजी से बरप रहा है। देश कोरोना से निपटने के लिए कई तरह के प्रयास कर रहा है लेकिन कोरोना खत्म होने के नाम नहीं ले रहा है। कोरोना से हर तरफ हाहाकार मचा हुआ है। ऑक्सीजन की किल्लत और दवाईयों की कमी देश के हालात और भी ज्यादा खराब कर दिए हैं। कहीं अस्पतालों में बेड्स नहीं मिल रहे हैं। जिससे कोरोना के मरीजों के कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

कोरोना रोज कई मौतें हो रही है जिससे श्मशान में अंतिम संस्कार करने के लिए  जगहे ही नहीं है और कब्रिस्तान में भी दफ्नाने के लिए जगहे नहीं बची है। इसी कारण शवों को कई दिनों तक अंतिम संस्कार के लिए इंतजार करना पड़ रहा है। देश में कोरोना ने प्रलय मचाया है। इस कड़ी में गाजियाबाद के सुशील ने अपनी 1500 गज जमीन कोरोना से मरने वालों के अंतिम संस्कार के लिए दान कर दी है।


गाजियाबाद नगर निगम ने दान की इस जमीन पर अंतिम संस्कार करना भी शुरू कर दिया है। शमशान में पहले अंतिम संस्कार के लिए कई किलोमीटर तक की कतारे देखने को मिल रही है लेकिन अभी सुशील की जमीन पर अंतिम संस्कार किए जा रहे हैं जिससे लोगों को इंतजार नहीं करना पड़ रहा है। जानकारी के लिए बता दें कि सुशील की यह जमीन करोड़ों की मानी जा रही है। इस जमीन की कीमत करोड़ों में हैं लेकिन सुशील ने देश के लिए करोड़ों की जमीन दान कर दी है।