देश में हनुमान चालीसा , बुर्का और लाउडस्पीकर  को लेकर माहौल गरमाया हुआ है. इसी बीच राष्ट्रीय जनता दल प्रमुख व बिहार के मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव  का इस ज्वलनशील मुद्दे पर बयान सामने आया है. एम्स से छुट्टी मिलने के बाद लालू प्रसाद यादव बेटी मीसा भारती के राजधानी स्थित आवास पर पहुंचे हैं. पिछले दिनों लालू प्रसाद यादव को चारा घोटाले के एक मामले में झारखंड हाई कोर्ट ने जमानत दे दी थी.

यह भी पढ़े : 400 किलोमीटर की जबरदस्त रेंज के साथ 11 मई को लॉन्च होगी नई टाटा नेक्सॉन ईवी, पहले से ज्यादा पावरफुल


लाउडस्पीकर मामले पर पत्रकारों से बात करते हुए लालू प्रसाद यादव ने कहा, "ये बहुत गलत बात है. ये देश का टुकड़ा करने के बराबर है. आप क्यों जा रहे हो मस्जिद के पास. हनुमान चालीसा पढ़ना है, तो मंदिर में पढ़ो. लोगों को इरिटेट किया जा रहा है कि लोग रिएक्ट करें और देश में दंगा फसाद हो. देश के लिए ये बहुत ख़राब हो रहा है." पिछले कई महीनों से देश के कई राज्यों में लाउडस्पीकर को लेकर माहौल बिगड़ा हुआ है, खासकर महाराष्ट्र में. 

यह भी पढ़े : 5 May Lucky Zodiac Signs: आज का दिन इन 6 राशियों के लिए बेहद भाग्यशाली, इन राशियों के जातकों की बढ़ेगी परेशानी


महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के कार्यकर्ताओं ने बुधवार को उन मस्जिदों के सामने हनुमान चालीसा बजाया जो अजान के लिए लाउडस्पीकरों का इस्तेमाल कर रहे थे. जबकि महाराष्ट्र सरकार ने दावा किया कि कोई अवैध लाउडस्पीकर नहीं हैं. राज ठाकरे ने कहा कि अवैध लाउडस्पीकरों के खिलाफ उनका विरोध जारी रहेगा. यह कहते हुए कि यह कोई धार्मिक मुद्दा नहीं है और उनका विरोध मस्जिदों द्वारा अवैध रूप से लाउडस्पीकर का उपयोग करने के खिलाफ है, राज ठाकरे ने कहा कि लाउडस्पीकर के उपयोग में कानूनों का उल्लंघन करने वाले मंदिरों पर भी कार्रवाई हो.

यह भी पढ़े : कंडोम बेच रही Nushrratt Bharuccha सोशल मीडिया पर हुईं ट्रोल, लोगों ने बताया- D ग्रेड एक्ट्रेस


बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पहले कहा था कि बिहार सरकार धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर नहीं हटाएगी और किसी भी धार्मिक प्रथा में हस्तक्षेप नहीं करेगी. उन्होंने कहा था, "ये फ़िज़ुल की बात है. बिहार में हम लोग किसी भी धर्म के मामले में हस्तक्षेप नहीं करते हैं. सभी को अपना धर्म मानने का पूरा अधिकार है."